आखिर क्यों एक छात्र ने स्कूल की प्रिंसीपल पर चला दी अंधाधुध गोलियां ???

हरियाणा में कानून व्यवस्था इस कदर चरमर्रा गई है कि अब स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे भी हाथों में पिस्टल लेकर स्कूल में आने लग गए है और ऐसे में यमुनानगर में घटी यह घटना ने पूरे सिस्टम को हिला कर रख दिया है। शनिवार को यमुनानगर के स्वामी विवेकानंद पब्लिक स्कूल में बाहरवीं कक्षा के छात्र शिवांग ने अपने ही स्कूल की प्रिंसीपल पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी, जिससे तीन गोलियां प्रिंसीपल रीतु छाबड़ा को लगी और गंभीर हालत में उसे निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया जहां इलाज के दौरान प्रिंसीपल की मौत हो गई।

हालांकि घटना के बाद जब आरोपी छात्र फरार हो रहा था तो लोगों की भीड़ ने उसे पकड़ कर पहले तो उसके हाथ से पिस्टल छीना और बाद में उसकी पीटाई करने के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। इस घटना से पहले आरोपी छात्र शिवांग अपने एक अन्य साथी के साथ बुलेट पर सवार होकर स्कूल में आया था और गेट के बाहर बैठकर उसने पहले तो चौंकीदार को वहां से भगाने के लिए एक फायर दागा और बाद में स्कूल परिसर के अंदर घुसकर प्रिंसीपल पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिस समय यह घटना घटी उस समय स्कूल में सैकड़ों छोटे छोटे बच्चे भी पढ़ रहे थे जिन्हें कलास रूम के अंदर ही अध्यापकं ने बंद कर दिया और अपने आप को भी सुरक्षा देने के लिए कलास रूम के अंदर से लॉक लगा दिया। लेकिन घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी स्कूल से तो भाग निकला लेकिन बीच रास्ते ही उसे लोगो ने पकड़ लिया।

 

पुलिस के हाथ लगे आरोपी छात्र के पिता को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। बताया जा रहा है कि आरोपी छात्र के पिता एक फाइनेंसर है और उन्हीं की पिस्टल से पूरी घटना को अंजाम दिया था। जबकि उसके साथ कौन था जो शिवांग को लेकर यहां पहुंचा उसके बारे में भी अभी पुलिस जांच कर रही है। जबकि स्कूल में लगे सीसी कैमरे की फुटेज को भी पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।

फिल्हाल पुलिस ने मृतक प्रिंसीपल रीतु छाबड़ा के शव को कब्जे में लेने के बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज कर जांच शुरू कर दी है।