आखिर क्यों सैक्टर-23 के लोग हुए पड़े हैं हनीप्रीत से परेशान?

ये नज़ारा सेक्टर-23 के पुलिस स्टेशन का है। पिछले एक सप्ताह से यहां हनीप्रीत और उसके साथ गिरफ्तार की गई सुखदीप कौर के साथ पूछताछ ने पंचकूला के इस सबसे बड़े अधिकार-क्षेत्र वाले इस थाने को सिर्फ एक मामले का थाना बना दिया है। हनीप्रीत से पूछताछ का काम 1.4 स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में बनी एस. आई. टी कर रही है। कुल मिला कर पूरे थाने को एक किले जैसी सुरक्षा प्रदान कर दी गई है। यही वजह है कि आम शिकायतकर्ता को थाने के आसपास तक आने में भी दिक्कतें आ रही हैं।

शिकायतकर्ताओं को थाने के अंदर आने की इजाजत नहीं है। इतना जरुर है कि कोई भी शिकायत दर्ज करने के लिए थाना परिसर के ठीक बाहर एक अस्थायी कैबिन बना दिया गया है। उसे ड्यूटी रुम का नाम दिया गया है। यहां एक ए.एस. आई स्तर के अधिकारी की ड्यूटी लगाई गई है जो शिकायतों को सिर्फ लेता भर है। पिछले 6 दिनों के दौरान थाने में केवल दो आपराधिक मामले दर्ज हुए हैं।

पुलिस अधिकारी भले ही जो भी दावा करे पर साफ है कि पंचकूला के सबसे व्यस्तम पुलिस स्टेशन में फिलहाल आम आवाम की कोई सुनवाई नहीं है।