कहां लेकर गई हनीप्रीत को हरियाणा पुलिस…आएँ जानें

राम रहीम की राज़दार हनीप्रीत से हरियाणा पुलिस ने राम रहीम के गांव गुरसर मोडिया में बीती रात करीब 3 घंटे पूछताछ की है। देर रात तक चली छापेमारी के बाद आज पुलिस हनीप्रीत को सिरसा ले जा सकती है। जांच टीम हनीप्रीत के लैपटॉप और मोबाइल की तलाश में जुटी है। जिससे पंचकूला हिंसा की प्लानिंग का पर्दाफाश किया जा सके।

मिली जानकारी के मुताबिक, बुधवार देर शाम पंचकूला पुलिस 7 गाड़ियों में हथियारबंद फोर्स के साथ हनीप्रीत को लेकर श्रीगंगानगर के गांव लाधुवाला के पास गिलों की ढाणी पहुंची। फरारी के दौरान हनीप्रीत यहां पर 2 दिन रुकी थी। बताया जा रहा है कि जिस ढाणी में वह ठहरी, वहां पर राम रहीम के रिश्तेदार रहते हैं। इस जगह पर जांच करने के बाद पुलिस टीम हनीप्रीत को लेकर शाम करीब पौने सात बजे हनुमानगढ़ के गांव गुरुसर मोडिया पहुंची। यहां पर गुरमीत राम रहीम का पुश्तैनी मकान है। टीम पहले सीधे वहां पर गई। वहां से डेरा सच्चा सौदा के सीनियर सेकेंडरी गर्ल्स स्कूल के हॉस्टल और हॉस्पिटल पहुंची। हनीप्रीत यहां पर तीन दिन तक रुकी थी। यहां से निकलकर ही वह गिलों की ढाणी में ठहरी थी।

चार गाड़ियों के काफिले के साथ एसआईटी की टीम ने गांव में कई जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की. ताकि हनीप्रीत से मिले हिंसा के सुरागों की कड़ियां जोड़ी जा सकें। एसआईटी की ये कार्रवाई इतनी गोपनीय थी. कि पुलिस वालों के अलावा मौके पर किसी को भी जाने की इजाज़त नहीं थी। इससे पहले भठिंडा के एक घर में एसआईटी ने हनीप्रीत से कई सवाल किए थे। माना जा रहा है कि यहां पर हनीप्रीत अपनी साथी सुखदीप कौर के साथ 6 दिन रूकी थी। यह सुखदीप कौर के पति इकबाल सिंह के बुआ के बेटे गुरमीत सिंह का घर था।

Court issues new decision on honeypreet: ਹਨੀਪ੍ਰੀਤ ਨੂੰ ਹੋਰ 3 ਦਿਨਾਂ ਦੀ ਹੋਰ ਰਿਮਾਂਡ 'ਤੇ ਭੇਜਿਆ ਗਿਆ

सूत्रों के मुताबिक हनीप्रीत ने हिंसा की साजिश रचने की बात तो कबूल कर ली है लेकिन पुलिस को अब भी कई सवालों के जवाब नहीं मिले है। पुलिस अब तक ये भी नहीं पता लगा सकी है कि हिंसा के लिए डेरा समर्थकों को रुपये किसने दिए और ये रुपये किसके जरिए आए थे।