क्यों जरुरी है विपासना से पूछताछ आइए जानें…..

डेरा सच्चा सौदा की चेयरपरसन विपासना इसां से पूछताछ के लिए एसआइटी अब सिरसा जाएगी। हनीप्रीत की फरारी और 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिसां के मामलों में विपासना इसां को एक महत्वपूर्ण कड़ी माना जा रहा है। गिरफ्तारी के बाद  हनीप्रीत ने जांचकर्ताओं को बताया था कि वह 25 अगस्त को गायब होने के बाद विपासना इसां से मिली थी और अपना मोबाइल, लैपटाप और कुछ अन्य दस्तावेज़ उसने विपासना को सौपें थे। हनीप्रीत ने यह भी खुलासा किया था कि 17 अगस्त को डेरा में हुई बैठक में विपासना भी शामिल थी।

इन जानकारियों की तस्दीक करने के लिए हनीप्रीत और विपासना से संयुक्त रुप से पूछताछ भी की गई थी। विपासना को बीते सोमवार दोबारा एसआईटी के सामने पेश होने के लिए कहा गया था । लेकिन विपासना ने जांच में शामिल होने की बजाए मैडीकल सर्टीफिकेट भेज दिया । हरियाणा के पुलिस प्रमुख बी. एस. सन्धु का कहना है कि जांच दल अब सिरसा जा कर पूछताछ करेगा साथ ही उसके मैडीकल सर्टीफिकेट की सत्यता की भी जांच की जाएगी।

बी. एस. सन्धु ने दावा किया कि हनीप्रीत से हुई पूछताछ के दौरान कई अहम जानकारियां मिली हैं। उन्होनें कहा कि एसआइटी शानदार काम कर रही है। वहीं आदित्य और पवन इसां को लेकर पुलिस प्रमुख का दावा था  कि इन दोनों को भी जल्दी ही काबू कर लिया जाएगा।

आयकर विभाग भी डेरा सच्चा सौदा की संपत्तियों की जांच करने की प्रक्रिया शुरु कर रही है। आयकर विभाग ने सिरसा कोर्ट में इस संबंध में अर्जी लगा रखी है। विभाग का कहना है कि सर्च अभियान में मिले सपंत्ती के दस्तावेज़ों के आधार पर वह जांच करना चाहता है।