गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत अलग – अलग जेलों में मनाएंगे दीवाली…..

गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत इस बार दीवाली अलग- अलग जेलों में मनाएंगे। शुक्रवार को हनीप्रीत को एस आई टी ने  कोर्ट में पेश किया लेकिन उसके रिमांड  की मांग नहीं की। जिसके बाद कोर्ट ने हनीप्रीत को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। हनीप्रीत अब अम्बाला की सैंट्रल जेल में रहेगी।  उसे 23 अक्तुबर को बाकी आरोपियों के साथ एक बार फिर अदालत में पेश होना होगा। सुरक्षा कारणों के चलते उसे भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया जा सकता है।

इस बीच शुक्रवार को एस आई टी ने हनीप्रीत और विपासना के साथ सयुंक्त रूप से बातचीत की। सूत्रों के मुताबिक करीब 5 घण्टे तक चली इस पूछताछ के दौरान हनीप्रीत और विपासना के बीच कई बार बहस हुई और दोनों एक दूसरे की बात को काटती हुई नज़र आई। विपासना ने इस बात को नकारा कि 17 अगस्त की मीटिंग वह मौजूद थी। जबकि हनीप्रीत ने पुलिस को बताया था की विपासना उस बैठक में मौजूद थी। माना जा रहा है कि 17 अगस्त को ही डेरा में हुई इस मीटिंग में दंगे भड़काने की साज़िश रची गई थी। हनीप्रीत का यह भी कहना था कि लैपटॉप और डायरीयां उसने विपासना को दी थी। लेकिन विपासना ने इससे भी इंकार किया। विपासना को अब सोमवार को दोबारा जाँच में शामिल होने के लिए बुलाया गया है।

विपासना से पुलिस को मोबाइल जरूर मिल गया है। इसे सील कर दिया गया है और जाँच के लिए फोरेंसिक लैब में भेज दिया गया है। डेरा में रची गई साज़िश का पर्दाफाश करने में यह मोबाइल अहम साबित हो सकता है।