गुरूग्राम स्कूल मर्डर केस – सीबीआई द्वारा दायर चार्जशीट ने बढ़ाई गुरूग्राम पुलिस की मुश्किलें

गुरुग्राम के बहुचर्चित छात्र हत्या मामले में सीबीआई की चार्जशीट ने गुरुग्राम पुलिस की सांसे अटका दी है…..हालांकि अबतक सीबीआई ने हरियाणा सरकार को गुरुग्राम पुलिस पर कार्रवाई के लिए कोई रिकोमेंडेशन नहीं दिया है लेकिन अपने चार्जशीट में गुरुग्राम पुलिस की जमकर फजीहत की है…. कोर्ट में सीबीआई की चार्जशीट पेश होने के बाद गुरुग्राम के पुलिस कमिशनर संदीप खिरवार अपनी खामियों को छुपाते नजर आ रहे हैं…..पुलिस कमिश्नर ने माना है कि छात्र की हत्या मामले में पुलिस से कहीं न कहींचूक हुईहै  …और ऐसे में सीबीआई के रिकोमेंडेशन के बाद उनपर कारर्वाई होगी…….

सीबीआई के रिकोमेंडेशन का हवाला दे रहे गुरुग्राम के पुलिस कमिश्नर शायद ये भूल रहे हैं कि 9 सिंतबर 2017 को अपने प्रेस वार्ता के दौरान सीपी साहब प्रेस के सामने चीख चीख कर कह रहे थे कि छात्र की हत्या मामले में प्राइम एक्यूजड बस कंडक्टर अशोक ही है…और अशोक के खिलाफ ही पुलिस चार्जशीट की तैयारी कर रही है लेकिन अब जब सीबीआई ने पुलिस की थ्योरी को झूठा करार दे दिया है और बस कंडक्टर को निर्दोश साबित कर दिया है तो ऐसे में सीपी साहब भी अपने बयान को बदल रहे हैं…

लेकिन सवाल ये है कि आखिर उन पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई करने से सीपी साहब क्यों इंकार कर रहे हैं..क्या इस मामले में पुलिस कमिश्नर की भूमिका भी संदेह के घेरे में है……ऐसे में सबकों इंतजार है जब ऐसे पुलिसकर्मियों पर कारर्वाई होगी ..जो हत्याकांड जैसे संगीन जुर्म में किसी निर्दोष को दोषी साबित करने में जुटे थे…………