तीनों बच्चों को मारने वाले चाचा ने जेल में की आत्महत्या…मोरनी के जंगलों में मिले थे बच्चों के शव

पिछले दिनों एक पिता द्वारा अपने भाई के साथ मिलकर तीनों बच्चों को प्रेम प्रसंग के चलते मारने का मामला सामने आया था जिसने सबका दिल दहला दिया था। बच्चों का शव मोरनी के जंगलों में मिला था। यह घटना 19 नवंबर की है जब समर, समीर और सिमरन तीन सगे भाइयों को इस बाप ने ही मार डाला था । गुरूवार को कुरुक्षेत्र जेल में बंद 3 बच्चों के हत्यारे जगदीप ने कुरुक्षेत्र जिला कारागार में आत्महत्या कर ली है।

जगदीप बच्चों का चाचा था। देर शाम जगदीप ने जेल के अंदर बाथरूम में अपने निजी कपड़े से फंदा लगाकर खुद को खत्म कर लिया। आपको फिर से बता दें कि कुरुक्षेत्र जिले के गांव सारसा के समर, समीर ओर सिमरन तीन सगे भाई बहन की 19 नवम्बर को अपरहण के बाद गोली मारकर हत्या कर दी थी। जिनके शव पुलिस को  मोरनी के पहाड़ी इलाके से मिले थे। पुलिस ने हत्या के आरोप में चाचा जगदीप मलिक को गिरफ्तार कर लिया था। जगदीप ने बच्चों के पिता सोनू  मलिक के भी साजिश में  शामिल होने की बात कही थी। बच्चो का पिता सोनू भी जगदीप के साथ कुरुक्षेत्र जेल में बंद है। वहीं मासूम बच्चो की माँ का कहना था कि इंसाफ तभी होगा जब दोषीयो को  फांसी होगी।

वहीं जगदीप की आत्महत्या ने जेल प्रशासन पर भी कई सावलिया निशान खड़े कर दिए है कि जेल के अंदर सुरक्षा के कड़े इंतजाम के होते हुए भी इस तरह घटना को कैसे अंजाम दिया गया।