थियेटर मालिकों ने नहीं जताया सरकार व पुलिस प्रशासन के आश्वासनों पर भरोसा…ज्यादातर थियेटरों में नहीं लगी पद्मावत

इतिहास के पन्नों में दफन रानी पद्मावती के लिए अपनी राजपुताना वफादारी का सबूत…खुलेआम दे रही है करणी सेना…भंसाली की पद्मावत में विरोध का जौहर कुछ ऐसा डाला गया…कि थियेटर मालिकों के जहन में राजपुताना खौफ घर कर गया…हरियाणा के ज्यादातर जिलों में सिनेमाघर खाकी के साये में है…पुलिस के पहरे में पद्मावत का स्वागत हो रहा है…

लेकिन यमुनानगर, करनाल, कुरूक्षेत्र और भिवानी में करणी सेना के गुंडों की कायराना हरकत के बाद…थियेटर मालिक सकते में है…आपसी बैठक की गई…और फैसला लिया कि फिल्म…नहीं दिखाएंगे…जान है…तो जहान है…और सरकार का क्या है…वो तो आश्वासनों में ही भरोसा रखती है…

कोरे तांडव का करणी उत्सव जारी है…कुछ दिनों पहले तक जिस करणी सेना को कोई नहीं जानता था…आज वो करणी सेना हर जुबान पर है…गुरूग्राम में हुई घटना के बाद से करणी सेना पर सवाल उठ रहे हैं…घटना की निंदा हो रही है…लेकिन इस सब के बीच फिल्म भी अब परदे पर है…करणी सेना को सुर्खियां मिल चुकी है…बदनामी ही सही लेकिन…वो कहते हैं ना…बदनाम हुआ तो क्या हुआ…कम से कम…नाम तो हुआ….