पंचकूला हिंसा मामला – हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार को लगाई खूब फटकार

25 अगस्त को पंचकूला में हुए अंधे तांडव की परतें…पूरी तरह खुल नहीं पाई है…हरियाणा पुलिस इस केस में कहीं पिछड़ती नजर आ रही है…और हाईकोर्ट भी इसे बखूबी समझ रहा है…इसीलिए एक बार फिर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने इसे लेकर हिंसा की जांच कर रही एसआईटी को फटकार लगाई है…कोर्ट ने तो हरियाणा पुलिस को ये तक सुना दिया कि जांच नहीं हो रही तो पंजाब पुलिस को जांच के लिए बोल देते हैं…कोर्ट की किरकिरी…आदित्य इन्सां का अंडरग्राउंड होना…और डेरे से मिली जली हार्डडिस्क से अब तक कोई सुराग न मिलना….ये सारे पहलू…हरियाणा पुलिस के लिए…नाक का सवाल बन चुके हैं….

डेरे के कर्मी ने पुलिस को बयान दिया था कि हिंसा से पहले दिन सिरसा डेरे से कैश से भरी हुई दो बड़ी गाड़ियां निकली थी जिसकी तस्वीरेें सीसीटीवी में भी कैद हो गई थी…हिंसा में डेरे की सीसीटीवी और कंप्यूटरों को आग के हवाले कर दिया था और डेरे के कर्मी के मुताबिक उन्हीं कंप्यूटरों में उन गाड़ियों की भी फुटेज थी…ऐसे में कोर्ट ने पुलिस से पूछा कि आखिर पुलिस के सामने से कैश से भरी गाड़ियां डेरे से कैसे निकल गई…

उधर रंजीत मर्डर केस में भी सुनवाई आखिरी दौर में है….राम रहीम के खिलाफ शिकंजा जल्दी कसने लगा है…साधुओं को नपुंसक बनाने के केस में भी राम रहीम को चार्जशीट में आरोपी बनाया गया है…इन सब के चलते जेल में बंद राम रहीम के खिलाफ घेराबंदी चौतरफा हो रही है…
तो मामला जितना संगीन था…उतना ही पेचीदा भी बनता जा रहा है…सारी खास कड़ियां गायब है…डेरे से मिली हार्डडिस्क से कुछ हाथ नहीं लग पा रहा…हिंसा को हवा देने वाले सूरमा फरार है…और पुलिस…सिर्फ ईनामी राशि बढ़ाकर…किसी मसीहा के फोन कॉल का इंतजार कर रही है….