फिल्म पद्मावती को लेकर हरियाणा में भी छिड़ी जंग…कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने स्मृति ईरानी और संजय लीला भंसाली को लिखा पत्र…

विवादों में घिरी बॉलीवुड निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म पदमावती को लेकर जहां पूरे देश में हंगामा मचा हुआ है तो वहीं हरियाणा के कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और पद्मावती फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली को पत्र लिखे हैं।

इस पत्र में उन्होंने संजय लीला भंसाली से कहा है कि फिल्म को बेचने के लिये इतिहास और लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ न करें और वहीं स्मृति ईरानी से विवादित फिल्म पदमावती को देखने के बाद रिलीज करने की मांग की है।

राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश गुजरात के बाद अब हरियाणा के रेवाड़ी, फरीदबाद समेत कई क्षेत्रों में भी फ़िल्म का विरोध होना शुरू हो चुका है। हरियाणा के रेवाड़ी में राजपूत समाज के सैकड़ों युवाओं ने सड़कों पर प्रदर्शन कर संजय लीलाबंसाली का पुतला फूंका और मॉल के मालिक को फ़िल्म ना दिखाने के लिए ज्ञापन भी दिया। राजपूत समाज ने सिनेमा संचालकों को चेतावनी भी दी है की अगर उन्होंने पद्मावती फ़िल्म को अपने सिनेमा हॉल में दिखाया तो उन्हें आग के हवाले करने से भी वो पीछे नहीं हटेंगे।

वहीं फरीदाबाद में किए प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों का कहना है कि फिल्म निर्माता संजय लीला बंसाली ने अपनी फिल्म पद्मावती में रानी पद्मावती के चरित्र से छेड़-छाड़ कर दर्शाया गया है जिसकों राजपूत समाज किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगा। राजपूत समाज के लोग शहर भर में प्रदर्शन करते हुए महाराणा प्रताप चौक पहुंचे जहां उन्होंने फ़िल्म निर्माता संजय लीला बंसाली के पुतले की जूते-चपलो से पिटाई कर बाद में आग के हवाले कर विरोध जताया। शहर के सभी सिनेमा घरों में पहुंचकर संचालकों को ज्ञापन भी दिया।