राम रहीम से पूछताछ के लिए पहुंची राजस्थान पुलिस…मई 2015 में जयपुर के एक व्यक्ति ने लगाया था पत्नी को गायब करने का आरोप

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम से पूछताछ करने के लिए वीरवार को राजस्थान पुलिस जेल पहुंची। पुलिस ने राम रहीम से मई 2015 में जयपुर में दर्ज केस के सिलसिले में पूछताछ की। राजस्थान पुलिस करीब डेढ़ घंटे तक सुनारिया जेल में रही। दरअसल दो साध्वियों से रेप मामले में राम रहीम को 20 साल की सजा हुई है और वे सुनारिया जेल में बंद हैं।

गौरतलब है कि राम रहीम के खिलाफ मई 2015 में जयपुर में केस दर्ज हुआ था। जयपुर के जगतपुर में रहने वाले कमलेश रैगर ने राजस्थान हाईकोर्ट में शिकायत दर्ज कराई थी कि वह अपनी पत्नी 26 साल की गुड्डी देवी और अपने बच्चों के साथ राम रहीम के सिरसा के डेरे में गया था। 23 से 25 मार्च 2015 तक वे राम रहीम के आश्रम में थे। इस दौरान आश्रम का इंचार्ज उसकी पत्नी को राम रहीम से मिलवाने ले गया था तब से उसकी पत्नी नहीं मिली और अब डेरा वाले पत्नी के बारे में पूछने पर आश्रम से भगा दे रहे हैं। उसके बाद कोर्ट ने राजस्थान के डीजीपी से कमलेश की पत्नी को कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया था लेकिन पुलिस उसे कोर्ट में पेश करने में सफल नहीं हो पाई तो मजिस्ट्रेट कोर्ट ने राम रहीम समेत तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया था। फिर आईपीसी की धारा 365,344,346 व 120 बी के तहत केस दर्ज हुआ था। कोर्ट ने जयपुर के जवाहर नगर थाना को मुकदमा दर्ज कर शिकायतकर्ता की पत्नी को पेश करने के लिए कहा था। जिसमें पुलिस अब तक जांच नही कर पाई है।

चूंकि राम रहीम इन दिनों सुनारिया जेल में बंद है। इसलिए राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश के राजस्थान पुलिस की टीम 2 बजकर 25 मिनट पर सुनारिया जेल पहुंची। इस टीम की अगुवाई इंस्पेक्टर राजेश ने की। टीम के जेल पहुंचते ही राम रहीम को बैरक से बाहर लाया गया। इसके बाद टीम ने एक बंद कमरे में डेरा प्रमुख से पूछताछ शुरू की। इस टीम ने राम रहीम से कमलेश की पत्नी के गायब होने के संबंध में सवाल किए। पूछताछ के बाद यह टीम 3 बजकर 50 मिनट पर रवाना हो गई।