हरियाणा

लंपी वायरस: प्रशासन के आदेशों का नहीं दिखा असर, सरकार की मनाही के बाद भी लगा पशु मेला

By Vinod Kumar -- August 14, 2022 4:41 pm

फतेहाबाद/साहिल रुखाया: जिले में तेजी से लंपी स्किन डिजीज का संक्रमण फैल रहा हैं। जिले में इस महामारी से अब तक 10 पशुओं की मौत हो गई, वहीं 504 से अधिक पशु संक्रमित हुए हैं। पशुपालन विभाग के अधिकारी बिना किसी अवकाश के लगातार संक्रमित पशुओं का इलाज करने में जुटे हैं।

बढ़ते लंपी के केसों के चलते पिछले सप्ताह पशुपालन विभाग के मंत्री JP दलाल ने एक आदेश जारी करके कहा था कि तुरंत प्रभाव से पशु मेलों पर रोक लगाई जाए, ताकि बाहर से आने वाले पशु यहां आकर बीमारी ना फैला सकें, लेकिन मंत्री के आदेश का रविवार को कोई असर देखने को नही मिला।

पशुपालन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि मेला लगने से पशुओं का आवागमन अधिक होता है। इससे संक्रमण अधिक फैलता है। ऐसे में उन्होंने प्रशासन को मेला बंद करने का आग्रह किया था। दरअसल, फतेहाबाद के रतिया रोड पर लगने वाले पशु मेले में प्रत्येक रविवार को 3 से 4 हजार पशु आते हैं। जो पंजाब, राजस्थान के साथ दूसरे प्रदेशों से ही आते हैं।

इतने बड़े स्तर पर पशुओं का आवागमन होने पर बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया। इसकी वजह है कि लंपी स्किन डिजीज भी पशुओं में संक्रमण की वजह से फैलती है। यह पशुओं के आपसी संपर्क के अलावा मच्छर व चिचड़ की वजह से भी बड़ी तेजी से फैल रही है। ऐसे में इस बीमारी से बचाव बेहद जरूरी है।

  • Share