सोनीपत के स्कूल में 2 कर्मचारियों पर लगा छात्रा से गैंगरेप का आरोप…. पीड़िता ने पीएम को लिखी चिट्ठी

पहले सिरसा के बाबा गुरमीत राम रहीम को एक गुमनाम चिठ्ठी ने साध्वी यौन शोषण मामले में जेल में भिजवाया और अब सोनीपत के गोहाना में स्थित ओम पब्लिक नाम के स्कूल की एक छात्रा ने अपने ही स्कूल के दो कर्मचारियों पर पीएम मोदी को चिठ्ठी लिखकर  गैंगरेप का आरोप लगाया है। पीएमओ ऑफिस से चिठ्ठी मिलने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

सोनीपत के गोहाना में जींद रोड पर स्थित ओम पब्लिक स्कूल की एक गुमनाम छात्रा ने पीएम मोदी को एक गुमनाम चिठ्ठी लिखी है जिसमें उसने अपने साथ स्कूल के दो कर्मचारियों पर गैंगरेप करने का आरोप लगाया है। यह चिट्ठी कुछ इस तरह है…

“मैं ओम पब्लिक स्कूल गोहाना की छात्रा हूँ। स्कूल में सुखबीर और कर्मवीर ने मेरे साथ गलत काम किया। मुझे सैक्स के लिए मजबूर किया। वीडियो दिखाकर मुझे सैक्स के लिए उकसाया। हद तब हो गयी जब मेरी दोस्त को भी बुलाने के लिए कहा गया। मैं आत्महत्या करना चाहती थी, लेकिन मेरी दोस्त ने मुझे हौंसला दिया। हमने अपनी क्लास इंचार्ज से बात की। उन्होंने कहा कि वह प्रिंसिपल से बात करेंगी। इंचार्ज ने बताया कि प्रिंसिपल बोली कि ये तो चलता है। मैंने डायरेक्टर से बात करने की सोची लेकिन मुझे कोई फायदा नहीं लगा। तब मैंने आपको लिखा मोदी अंकल। मेरी तो जिंदगी ख़राब हो गई। लेकिन मैंने अपनी फ्रेंड को बचा लिया। ये ऑफिस में हमें छेड़ते कभी तो पीआरओ ऑफिस में। मुझे होटलो में भी ले जाया गया। ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण मैंने घर नहीं बताया। अगर मैंने ये बात अपने भाई को बताई होती तो मुझे मार देता। मुझे मरना तो वैसे भी है, लेकिन इन लोगों को सज़ा दिलाकर। अगर इस मामले में कोई एक्शन नहीं हुआ तो में आत्महत्या कर लूंगी और इसकी  जिम्मेवार डायरेक्टर होगी।”
इस पुरे मामले में सोनीपत हैडक्वाटर डीएसपी मुकेश जाखड़ ने बताया कि उस चिठ्ठी में छात्रा ने ओम पब्लिक स्कूल के दो कर्मचरियों सुखबीर और कर्मवीर के नाम लिखे है। उन दोनों से पूछताछ की गई लेकिन अभी तक कुछ सामने नहीं आया है। वहीं छात्रा ने स्कूल स्टाफ को भी यह बात बताने की बात कही है। लेकिन स्कूल में सेक्सुअल मामलों को लेकर एक कमेटी बनाई हुई जहां ऐसी कोई शिकायत नहीं है। वहीं अब वह होटलों के रिकॉर्ड भी खंगाल रहे है।