हनीप्रीत को लेकर पंजाब और हरियाणा पुलिस में कैसे रही तनातनी…आएँ जानें सारा प्रकरण

नाटकीय घटनाक्रम के बाद हनीप्रीत को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया।  मंगलवार को सुबह हनीप्रीत एक निजि टी वी चैनल पर इंटरव्यू देती नज़र आई।  इसके साथ ही हड़कंप मच गया और हरियाणा पुलिस ने पूरी शिद्दत के साथ उसकी तलाश शुरू कर दी।  मंगलवार दोपहर बाद तक हनीप्रीत के सरेंडर करने की अफवाहें उड़ती रही। इस बीच हरियाणा पुलिस के एक अधिकारी ने यह आरोप भी जड़ दिया कि हनीप्रीत पंजाब पुलिस के कब्जे में है और चैनलो के साथ इंटरव्यू भी पंजाब पुलिस के एक अधिकारी ने ही करवाया है। हालांकि हरियाणा पुलिस के अधिकारी ऑन रिकॉर्ड यह बात करने से बचते रहे।

ਗ੍ਰਿਫਤਾਰੀ ਤੋਂ ਬਾਅਦ ਹਨੀਪ੍ਰੀਤ ਦੀ ਵਿਗੜੀ ਤਬੀਅਤ

बाद में पंजाब पुलिस ने भी इन सब आरोपों का खंडन किया।  आधिकारिक तौर पर जारी अपने बयान में पंजाब पुलिस ने कहा कि हनीप्रीत इंसा की गिरफ्तारी में उनकी कोई भूमिका नहीं है। पंजाब पुलिस ने इस बात का भी खंडन किया कि हनीप्रीत इंसा उनके कब्जे में थी। पंजाब पुलिस की विज्ञप्ति के मुताबिक हनीप्रीत के खिलाफ पंजाब में कोई मामला दर्ज नहीं है और न ही पंजाब पुलिस को उसकी तलाश थी।

दोपहर बाद अम्बाला डिवीजन के कमीशनर पुलिस ए. एस. चावला ने मीडिया के सामने हनीप्रीत को गिरफ्तार किए जाने का ऐलान कर दिया।  चावला ने कहा की हनीप्रीत को जीरकपुर में जीरकपुर -पटियाला रोड से गिरफ्तार किया गया है। चावला ने दावा किया कि हनीप्रीत को हरियाणा पुलिस की स्पेशनल इन्वेस्टीगेशन टीम ने गिरफ्तार किया है।

हनीप्रीत को अब से  थोड़ी देर में पंचकूला की जिला अदालत में पेश किया जाएगा। हनीप्रीत के खिलाफ 25 अगस्त को पंचकूला में दंगा भड़काने और राम रहीम को फरार करने की साजिश रचने जैसे गंभीर आरोप है।  पुलिस का प्रयास रहेगा की उसे हनीप्रीत का ज्यादा से ज्यादा दिन का रिमांड मिले। वही हनीप्रीत के वकील भी अदालत में मौजूद रहेंगे। इनकी कोशिश रहेगी कि हनीप्रीत को जमानत मिल सके। हालांकि इसकी संभावना न के बराबर ही नज़र आ रही है।