हिंदुस्तान को नक्शे से मिटाने की कही थी बात, हनीप्रीत ने किया था वीडियो वायरल

Court issues new decision on honeypreet: ਹਨੀਪ੍ਰੀਤ ਨੂੰ ਹੋਰ 3 ਦਿਨਾਂ ਦੀ ਹੋਰ ਰਿਮਾਂਡ 'ਤੇ ਭੇਜਿਆ ਗਿਆ

बलात्कारी बाबा गुरमीत राम रहीम की राजदार हनीप्रीत 6 दिन पुलिस रिमांड पर रही। पुलिस कहती रही कि वह जांच में सहयोग नहीं कर रही। रिमांड अवधि खत्म होने पर मंगलवार को एसआईटी ने उसे और सुखदीप कौर को पंचकूला कोर्ट में पेश किया। एसआईटी ने कहा- हनीप्रीत ने ही देश विरोधी वीडियो बनाकर वायरल किया था। इस वीडियो में नारेबाजी की जा रही थी कि बाबा को सजा हुई तो हिंदुस्तान का नक्शा दुनिया से मिटा देंगे।

Court issues new decision on honeypreet: ਹਨੀਪ੍ਰੀਤ ਨੂੰ ਹੋਰ 3 ਦਿਨਾਂ ਦੀ ਹੋਰ ਰਿਮਾਂਡ 'ਤੇ ਭੇਜਿਆ ਗਿਆ

मिली जानकारी के अनुसार

– वायरल वीडियो के सबूत हनीप्रीत के मोबाइल में है और मोबाइल सुखदीप के रिश्तेदार के घर बिजनौर में।

– पंचकूला में दंगा कराने के लिए हनीप्रीत के मार्क किए मैप लैपटॉप में हैं, अब ये सब बरामद करना है।

– वह पवन, आदित्य और गोबीराम के ठिकाने जानती है, इन्हें पकड़वा सकती है, 9 दिन का रिमांड दिया जाए। कोर्ट ने 3 दिन का रिमांड दिया।

 

मोबाइल सुखदीप के रिश्तेदार के घर

 

– जिस मोबाइल से हनीप्रीत ने वीडियो बनाकर वायरल किया था। ये मोबाइल सुखदीप कौर के रिश्तेदार के घर बिजनौर से बरामद करना है।

– हनीप्रीत ने पंचकूला में दंगा भड़काने के लिए जिस लैपटॉप-मोबाइल का इस्तेमाल किया था, उसे रिकवर करना है। ये दोनों चीजें सिरसा डेरे में छिपाई गई हैं। इनमें दंगों के लिए बनाए गए नक्शे व मेंबरों की ड्यूटी का जिक्र है।

– दंगा भड़काने वाले आदित्य इंसां, पवन इंसां, नवीन नागपाल उर्फ गोबीराम को पकड़ना है। ये लोग हिमाचल के रामपुर बुशहर और गुरुग्राम में हैं।

– उसके सहयोगी मोहिंदर इंसां को ग्वालियर के पास एक फार्म हाउस से पकड़ना है।

ਵਿਪਾਸਨਾ ਇੰਸਾਂ ਨੇ ਜਾਂਚ ਵਿੱਚ ਸ਼ਾਮਿਲ ਹੋਣ ਨੂੰ ਕੀਤਾ ਇਨਕਾਰ

बाबा के पीए राकेश ने कबूला

 

– राकेश को कोर्ट ने ज्यूडिशियल रिमांड पर भेज दिया है। हनीप्रीत के कहने पर बनाए जाली दस्तावेज  गुरुसर मोडिया में मौजूद हैं।

 

– पुलिस को बताया कि सिरसा डेरे में 17 अगस्त को हुई मीटिंग में वह शामिल था। उसने बताया है कि पंचकूला में दंगे की फंडिंग ब्लैक मनी से की गई थी।

– इस साजिश पर होने वाले खर्च का अनुमान लगाया गया और फिर फर्जी डॉक्यूमेंट्स तैयार कराए गए ताकि ब्लैक मनी को वाइट किया जा सके।

– हनीप्रीत के कहने पर उसने ही फर्जी डॉक्यूमेंट्स बनवाए। ये डॉक्यूमेंट्स राजस्थान के गुरुसर मोडिया डेरे में हैं।

ਰਾਮ ਰਹੀਮ ਨੂੰ ਦੇਖ ਕੇ ਉਸਦੀ ਬੇਟੀ ਹੋ ਗਈ ਭਾਵੁਕ

अहम सबूत-

 

वीडियो: हनीप्रीत सेलेक्ट करती थी कौन सा मैसेज वायरल करना है

 

– बाबा को दोषी करार दिए जाने से पहले ही समर्थक पंचकूला पहुंचने लगे थे। यहां से वीडियो बनाकर हनीप्रीत को भेजी जाती थी।

– हनीप्रीत चेक करती थी कि कहां समर्थक ज्यादा दिख रहे हैं और लोगों को कहां फिट करना है। इसके बाद दोबारा वीडियो बनवाकर उसे वायरल करती थी। दिन में 10-12 वीडियो बनवाए जाते थे।

मैप पर मार्किंग: कहां से एंट्री, कहां हिंसा फैलाना आसान

 

– हनीप्रीत ने पंचकूला के नक्शों पर मार्क किया था कि कहां-कहां से शहर में दाखिल हो सकते हैं।

– समर्थकों को कहां से कहां तक आसानी से पहुंचाया जा सकता है। रूट प्लान के साथ दंगा करने के लिए कहां रुकना है आदि प्लानिंग लैपटॉप में है।

– केस की मजबूती के लिए यह लैपटॉप मिलना बहुत जरूरी है।