हरियाणा: ऑक्सीजन व रेमेडिसविर की कालाबाजारी में 45 गिरफ्तार, 77 सिलेंडर व 101 इंजेक्शन बरामद

By Arvind Kumar - May 05, 2021 6:05 pm

चंडीगढ़, हरियाणा पुलिस द्वारा कोविड-19 के गंभीर रूप के बीच ऑक्सीजन, ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमेडिसविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के मामलों में अबतक 21 एफआईआर दर्ज करते हुए कुल 45 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों से 77 ऑक्सीजन सिलेंडर तथा 101 रेमेडिसवीर इंजेक्शन भी बरामद किए गए हैं।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) हरियाणा, मनोज यादव ने आज यहां खुलासा करते हुए बताया कि कोरोनोवायरस के कहर के बीच ऑक्सीजन और कोविड रोगियों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली एंटी-वायरल दवा रेमेडिसविर की मांग लगातार बढ़ रही है। इसी का फायदा उठाते हुए कई बेईमान व्यक्तियों सहित निजी अस्पतालों के कर्मचारी भी लूट-खसोट में लगे हैं। ऐसे लोग ऑक्सीजन और रेमेडिसविर की कालाबाजारी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 23 अपै्ल 2021 के बाद से, हरियाणा के छः अलग-अलग जिलों में ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडरों की कालाबाजारी के सिलसिले में कुल 8 एफआईआर दर्ज की गई हैं। इन मामलों में 12 अभियुक्तों को गिरफ्तार करते हुए 77 ऑक्सीजन सिलेंडर की रिकवरी की गई है।

इसी प्रकार, रेमेडिसविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के संबंध में आठ अलग-अलग जिलों में 13 प्राथमिकी दर्ज करते हुए 33 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से पुलिस ने 101 इंजेक्शन भी बरामद किए हैं।

यह भी पढ़ें- चंडीगढ़ में सबको फ्री में लगेगा कोरोना वैक्सीन का टीका

इसके अतिरिक्त, पुलिस द्वारा फैक्ट्री मालिकों, वेल्डिंग शॉप, गैस गुब्बारों के विक्रेताओं और आम नागरिकों से स्वैच्छिक योगदान के रूप में कुल 1249 सिलेंडर एकत्र किए गए हैं, जिन्हें उपयोग के लिए जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया गया है।

डीजीपी ने कहा कि पुलिस टीमें कोविड-19 के उपचार में इस्तेमाल होने वाले ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाओं की कालाबाजारी रोकने के लिए अथक प्रयास कर रही थीं। पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किए थे जहां नागरिक इस संबंध में शिकायत दर्ज कर सकते हैं।


कालाबाजारी की इन नंबर पर दें सूचना
उन्होंने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि रेमेडिसविर इंजेक्शन सहित अन्य जीवन रक्षक दवाओं व ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी की सूचना मोबाइल नंबर 7087089947 और टोल फ्री नंबर 1800-180-1314 पर पुलिस के साथ साझा करें। आरोपियों के खिलाफ कानून अनुसार कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

 

adv-img
adv-img