हिमाचल

महिलाओं को HRTC की बसों में आज से किराए में 50 प्रतिशत की छूट, निगम में भरे जाएंगे 265 पद

By Vinod Kumar -- June 30, 2022 4:53 pm

कांगड़ा: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज कांगड़ा जिला के धर्मशाला में राज्य स्तरीय ‘नारी को नमन’ समारोह की अध्यक्षता करते हुए हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में महिला यात्रियों को बस किराए में 50 प्रतिशत की रियायत की शुरूआत की।

सीएम जयराम ने कार्यक्रम में हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में मौजूदा न्यूनतम किराया 7 रुपये से घटा कर 5 रुपये करने और हिमाचल प्रदेश परिवहन निगम की राइड विद प्राइड टैक्सियों में महिला चालकों के 25 पद भरने की घोषणा की। उन्होंने हिमाचल पथ परिवहन निगम में मोटर मैकेनिक, इलेक्ट्रिशयन और अन्य श्रेणियों के 265 पद भरने की भी घोषणा की।

सीएम जयराम ने कहा कि हिमाचल पथ परिवहन निगम को 30 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि उपलब्ध करवाने का मामला वित्त विभाग के समक्ष लाया जाएगा। ख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन प्रदेशवासियों के लिए ऐतिहासिक है, क्योंकि प्रदेश सरकार ने हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में महिला यात्रियों को 50 प्रतिशत रियायत प्रदान करने वाले ‘नारी को नमन’ कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि महिलाओं को बस किराए में दी जाने वाली यह छूट राजनीतिक कदम नहीं है, बल्कि महिला सशक्तिकरण की ओर हमारे संकल्प की दिशा में की गई सकारात्मक पहल है।

जयराम ठाकुर ने कहा कि यह योजना महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में सहायक सिद्ध होगी और प्रदेश में महिलाओं की प्रगति को और गति प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि एक अनुमान के अनुसार हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में प्रतिदिन 1.25 लाख महिलाएं यात्रा करती हैं और इस योजना के अन्तर्गत प्रदेश सरकार लगभग 60 करोड़ रुपये वार्षिक व्यय करेगी। उन्होंने कहा कि यह योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान को भी गति प्रदान करेगी, क्योंकि प्रतिदिन बसों में यात्रा करने वाली विद्यालय और महाविद्यालय की छात्राएं इससे लाभान्वित होंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाएं हमारी कुल आबादी का 50 प्रतिशत है और महिलाओं के समग्र विकास और उनकी सक्रिय भागीदारी के बिना विकसित समाज की परिकल्पना नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए वर्तमान प्रदेश सरकार ने निगम की बसों में बस किराए में 50 प्रतिशत छूट देने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक युवा विपक्षी विधायक ने इस ऐतिहासिक निर्णय के तुरन्त बाद फेसबुक लाइव में वर्तमान राज्य सरकार पर प्रदेश के लोगों को मुफ्तखोरी की आदत लगाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोग ऐसे नेताओं को आगामी चुनावों में करारा जवाब देंगे।

जयराम ठाकुर ने कहा कि ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री के उनके कार्यकाल के दौरान वर्ष 2010 में पंचायती राज संस्थाओं और शहरी स्थानीय निकायों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण प्रदान किया गया था। उन्होंने कहा कि उन चुनावों में 58 प्रतिशत से अधिक सीटों पर महिलाओं ने जीत हासिल की थी और आज यह 60 प्रतिशत तक बढ़ गया है।

सीएम जयराम ठाकर ने कहा कि महिलाओं के लिए मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना आरम्भ की गई है। बीपीएल परिवारों की बेटियों को लाभ प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री शगुन योजना आरम्भ की गई, जिसके अन्तर्गत बीपीएल परिवारों की बेटियों को शादी के दौरान 31000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। इस योजना के अन्तर्गत 5308 लड़कियों को 17 करोड़ रुपये से अधिक राशि प्रदान कर लाभान्वित किया गया है।

  • Share