राजनीति

अभय चौटाला ने सदन में उठाया विधायकों को मिली धमकी का मामला, कहा: अपराधियों को मिल रहा संरक्षण

By Vinod Kumar -- August 08, 2022 6:26 pm -- Updated:August 08, 2022 6:26 pm

चंडीगढ़: इनेलो के प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने सोमवार से शुरू हुए मानसून सत्र के पहले दिन विधानसभा में विधायकों को मिल रही धमकी तथा आमजन के प्रति बढ़ती असुरक्षा ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर बोलते हुए कहा कि यह बेहद संवेदनशील मामला है जिस पर कांग्रेस के जितने भी विधायकों को धमकी मिली थी उन सभी विधायकों को अपनी बात रखने का मौका दिया जाना चाहिए था।

अभय चौटाला ने कहा कि कांग्रेस के विधायक सुरेंद्र पंवार ने तो डर और भय के कारण इस्तीफे की भी पेशकश की थी और वो प्रदेश छोड़ कर जाना चाहते थे। प्रदेश में अपराध लगातार बढ़ रहे हैं और रंगदारी मांगने से प्रदेश के व्यापारियों में डर का माहौल बना हुआ है। अपराधियों द्वारा व्यापारियों से सरेआम रंगदारी मांगी जा रही हैं, जिसने भी उन्हें पैसा देने से मना किया उनको मौत के घाट उतार दिया गया।

INLD abhay chautala health issues haryana assembly winter session, हरियाणा विधानसभा, शीतकालीन सत्र, अभय चौटाला अभय सिंह चौटाला

चौटाला ने कहा कि आज प्रदेश में 241 मोस्ट वांटेड अपराधी हैं उनके नाम भी सरकार को उजागर करने चाहिए। प्रदेश में अवैध हथियारों की सप्लाई बढ़ी है। वर्ष 2018-20 में 6788 अवैध हथियार जब्त किए गए हैं जिससे साफ होता है कि अपराधियों को सरकारी संरक्षण दिया जा रहा है। प्रदेश में हथियारों के लाइसेंस बनवाने के लिए दलाल छोड़ रखे हैं जिनके द्वारा खुलेआम पैसा लिया जाता है जिसको स्वयं मुख्यमंत्री ने स्वीकार किया है।

Abhay Singh Chautala targeted manohar lal government for giving Z plus security to Ram Rahim

सबसे ज्यादा हथियारों के लाइसेंस गुरूग्राम, पानीपत और करनाल में बनाए गए जहां सबसे ज्यादा पैसा चला। अपराध बढ़ने का एक कारण यह भी है कि आज प्रदेश में जितने पुलिसकर्मियों की जरूरत है उनमें से 20 हजार पुलिसकर्मी कम हैं ।

INLD, abhay singh chautala, Chandigarh, Punjab haryana

कानून व्यवस्था पर बोलते हुए इनेलो नेता ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था का दिवालिया पिटा हुआ है। प्रदेश में हर रोज तीन हत्याएं, चार बलात्कार और तीन गैंगरेप होते हैं। पिछले आठ सालों में बलात्कार के मामलों में 65 प्रतिशत की बढ़ौतरी हुई है। आईपीसी की धारा के तहत 2018 में 108212 मामले दर्ज हुए जो 2021 में बढक़र 112677 हो गए। लोगों को पुलिस शुरक्षा देने पर भी सवालिया निशान लगाते हुए इनेलो नेता ने कहा कि ऐसे लोगों को सुरक्षा दी गई है जो स्वयं अपराधों में संलिप्त हैं।

  • Share