रंग लाया ग्रामीणों का संघर्ष, बजट में रेवाड़ी को मिली एम्स की सौगात

AIIMS For Rewari
रंग लाया ग्रामीणों का संघर्ष, रेवाड़ी को मिली एम्स की सौगात

रेवाड़ी। जिला के गांव मनेठी के ग्रामीणों का संघर्ष रंग लाया है। मोदी सरकार ने हरियाणा में देश का 22वां एम्स संस्थान बनाने की घोषणा बजट में की है। बजट में एम्स की घोषणा के बाद ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। इस ऐलान के बाद ग्रामीणों ने पूरे गांव में लड्डू बांट कर खुशी मनाई। इसके साथ ही सरकार द्वारा की गई घोषणा पर पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह का आभार जताया।

Protest For AIIMS
एम्स की मांग को लेकर ग्रामीण अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे थे

आपको बता दें कि मनेठी के ग्रामीण लगातार तीन साल से एम्स की मांग कर रहे थे और बीते 123 दिन से धरने पर थे। इससे पहले साल 2015 में हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने भी एक जनसभा में गांव मनेठी में एम्स स्संथान बनाने की घोषणा की थी और आखिरकार बेहद संघर्ष के बाद मोदी सरकार द्वारा इस घोषणा को मंजूरी मिली है।

Rewari Protest
ग्रामीण लगातार तीन साल से एम्स की मांग कर रहे थे

ग्रामीणों का कहना है कि स्वास्थ्य क्षेत्र में हुई इस बड़ी घोषणा के बाद अब हरियाणा में युवाओं को रोज़गार भी मिल सकेगा और क्षेत्र के लोग स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए कहीं और नहीं भटकेंगे।

यह भी पढ़ेचौटाला ने क्यों किया सट्टा बाजार का जिक्र, क्यों कहा एजेंटों के वोट भी नहीं पड़े ?