Sun, Jan 29, 2023
Whatsapp

हरियणा में खत्म हुई आढ़तियों की हड़ताल, सरकार ने वापस ली ई नेम पोर्टल की शर्त

Written by  Vinod Kumar -- September 27th 2022 10:45 AM
हरियणा में खत्म हुई आढ़तियों की हड़ताल, सरकार ने वापस ली ई नेम पोर्टल की शर्त

हरियणा में खत्म हुई आढ़तियों की हड़ताल, सरकार ने वापस ली ई नेम पोर्टल की शर्त

हरियाणा में आठ दिन से चली आ रही आढ़तियों की हड़ताल अब समाप्त हो गई है। इसके साथ ही चार दिन से करनाल में चल रहा अनशन भी स्थगित हो गया है। आढ़ती E-नेम से फसलों की खरीद किए जाने का विरोध कर रहे थे। आढ़तियों ने पूरे हरियाणा में हड़ताल कर दी थी। आढ़ितयों के जबरदस्त विरोध के बाद सरकार को झुकना पड़ा और E- नेम की शर्त वापस ले ली।


पिछले दिनों से हो रही बारिश के बीच किसानों की फसल मंडियों में खराब होने लगी थी। इसके बाद राज्य सरकार ने हड़ताल पर गए आढ़तियों से बातचीत शुरू की। कृषि मंत्री जेपी दलाल ने आढ़तियों से दो दिन पहले शनिवार को नई दिल्ली में हरियाणा भवन में बातचीत कर हड़ताल खत्म करने का आग्रह किया था। आढ़तियों ने सरकार के आगे ई-नेम पोर्टल की अनिवार्यता खत्म करने की मांग पर अड़े थे।

हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के चेयरमैन रजनीश चौधरी ने बताया कि सरकार द्वारा बासमती से ई-नेम वापस कर लिया गया है और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के आश्वासन के बाद करनाल में चल रहे आमरण अनशन को खत्म कर दिया है। वहीं प्रदेशव्यापी हड़ताल भी वापस ले ली है। मंगलवार से प्रदेश की सभी मंडियों में प्राइवेट खरीद शुरू की जाएगी।

मंडियों में अब पुराने तरीके से ही फसलों की खरीद की जाएगी। मंडियों में एक अक्टूबर से ही खरीद होगी। हरियाणा की मंडियों में इस साल MSP के बिना वाली फसलों की खरीद ई-नेम पोर्टल से सरकार करना चाहती थी। इसमें बासमती धान भी शामिल था। सरकार अब तक सरकार मोटे चावल की ही MSP पर खरीद करती है, जबकि अन्य किस्म के चावल को राइस मिलर्स या आढ़ती खरीदते हैं। आढ़ती इसका विरोध कर रहे थे।

Top News view more...

Latest News view more...