कानून व्यवस्था

पाकिस्तानी हनीट्रैप का शिकार बना जवान, दुश्मन देश के एजेंट को भेज दिए सेना के खुफिया वीडियो

By Dharam Prakash -- July 27, 2022 11:33 am

देश की खुफिया जानकारियां सीमापार तक पहुंचाने के एक और मामले का राजस्थान में खुलासा हुआ है। भारतीय सेना के एक जवान को इस सिलसिले में गिरफ्तार भी किया गया है। आरोपी राजस्थान में तैनात था जिस पर पाकिस्तान की महिला जासूसों को भारतीय सेना की गोपनीय जानकारियां पहुंचाने का आरोप है। इंटेलिजेंस के पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने इस बारे में जानकारी साझा की है और आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

आरोपी का नाम शांतिमय राणा है जो हनीट्रैप का शिकार हुआ है। सोशल साइट के जरिए आरोपी ने पाकिस्तान की महिला जासूस को अपनी रेजिमेंट की जानकारी औऱ भारतीय सेना के सैनिक अभ्यास के वीडियो साझा किए थे। हाल ही में 25 जुलाई को उसे हिरासत में ले लिया गया था जिसके बाद उससे पूछताछ का सिलसिला जारी है।

army spy rajsthan प्रतीकात्मक फोटो

पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि दो महिला जासूसों से वो संपर्क में था औऱ उन दोनों ने भी खुद को यूपी की मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस में तैनात बताया था जिसके आधार पर आरोपी ने उनके साथ ये जानकारियां साझा की। ये आरोपी मार्च 2018 में भारतीय सेना में है और फिलहाल उसे गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

army spy rajsthan new पाकिस्तानी जासूस

इस आरोपी के मुताबिक दोनों महिला एजेंट उसे जानकारी के बदले पैसे भी देती थीं जिसके लालच में उसने ये जानकारियां उनके साथ साझा की थीं। इस बारे में डीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा ने बताया कि सभी तथ्यों की पुष्टि की गई है और आरोपी के खिलाफ अब शासकीय गुप्त जानकारी अधिनियम 1923 के तहत कार्रवाई की जा रही है।

army personal arrested प्रतीकात्मक फोटो

ये आरोपी जवान शांतिमय राणा मूलरूप से पश्चिम बंगाल का रहने वाला है। राजस्थान के जयपुर में उसकी तैनाती आर्टिलरी यूनिट में थी और इसी दौरान इन दो जासूस महिलाओं ने उससे संपर्क कर सेना की गोपनीय जानकारी उसके जरिए हासिल की है। राजस्थान पुलिस के इंटेलिजेंस विंग के निदेशक जनरल उमेश मिश्रा ने बताया कि इन पाकिस्तानी एजेंट्स के नाम गुरनौर कौर उर्फ अंकिता और निशा बताए गए हैं जो सोशल मीडिया के जरिए आरोपी जवान शांतिमय के संपर्क में थीं।

  • Share