भिवानी के पहलवान बिजेंद्र सिंह ने शरीर पर 1550 हथोड़े खाकर बनाया विश्व रिकॉर्ड

By Arvind Kumar - July 27, 2021 10:07 am

भिवानी। देश की रीढ़ को नशे के चंगुल से बचाने के उद्देश्य से भिवानी के पहलवान बिजेंद्र सिंह द्वारा पिछले लंबे समय से शक्ति प्रदर्शन किए जा रहे हैं तथा युवाओं को नशे से दूर रहने के लिए प्रेरित किया जा रहा हैं। इसी के तहत सोमवार को पहलवान बिजेंद्र सिंह द्वारा शक्ति प्रदर्शन कर गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाया गया। इस दौरान पहलवान बिजेंद्र सिंह को हथौड़ों की 300 वार सहने का टॉस्क मिला था, जिस टॉस्क का पार करते हुए पहलवान ने 1550 का सबसे अधिक का रिकॉर्ड बनाया, जो कि विश्व भर में सबसे अधिक का रहा।

बता दें कि सोमवार को स्थानीय महम रोड स्थित सांस्कृतिक सदन में गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाने के लिए नेहरू युवा केंद्र से संबंधित अखिल भारतीय युवा जनकल्याण संगठन के अध्यक्ष पहलवान बिजेंद्र सिंह ने बड़ा ही दर्दनाक शक्ति प्रदर्शन किया। इस दौरान पहलवान बिजेंद्र सिंह को अपने शरीर पर हथौड़ों के 300 वार सहने थे, जिसके बाद ही उनका नाम गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया। लेकिन पहलवान बिजेंद्र सिंह ने अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ते हुए 300 की जगह हथौड़ों के 1550 वार सहे, जिनके बाद उनका नाम गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज हुआ तथा उन्हे स्टील मैन के नाम के खिताब से भी नवाजा गया।

यह भी पढ़ें- संयुक्त किसान मोर्चा ने किया मिशन उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड का ऐलान

यह भी पढ़ें- हरियाणा के मीडिया कर्मियों को सरकार की बड़ी सौगात


इस मौके पर डीएसपी विरेंद्र सिंह व डॉ मदन मानव ने कहा कि पहलवान बिजेंद्र सिंह ने पिछले काफी लंबे समय से एक अच्छा अभियान चलाया हुआ है, जिस अभियान का परिणाम उन्हें आज मिला हैं। उन्होंने कहा कि पहलवान बिजेंद्र सिंह ने बेहतरीन शक्ति प्रदर्शन का परिचय देते हुए जता दिया है कि नशे से दूर रहकर व्यक्ति कितना ताकतवर व साहसी बन सकता हैं।

वहीं इस मौके पर पहलवान बिजेंद्र सिंह ने कहा कि उनके अभियान का एकमात्र उद्देश्य युवाओं को नशे से दूर रखना हैं। उन्होंने कहा कि वे पहले शक्ति प्रदर्शनों के माध्यम से युवाओं को नशे के खिलाफ जागरूक करते आ रहे हैं। उनकी इसी मेहनत को देखते हुए उनका नाम गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया हैं।

adv-img
adv-img