राजनीति

किसानों की मांगों पर बातचीत कर हल निकाले सरकार, हमने किया था स्वामीनाथन रिपोर्ट का समर्थन: हुड्डा

By Vinod Kumar -- November 26, 2021 2:11 pm -- Updated:Feb 15, 2021

रोहतक: पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने किसान आंदोलन का एक साल पूरा होने पर कहा कि तीनों कृषि कानूनों को सरकार ने वापस ले लिया है इस संसद सत्र में कानून वापस भी हो जाएंगे, लेकिन सरकार को किसानों की दूसरों मांगों पर बातचीत कर समाधान निकालना चाहिए।

हुड्डा ने कहा कि अब खेती घाटे का सौदा हो गया है। हमने स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने की बात की थी। सी2 लागू होने से किसानों को फायदा होगा। कोई भी राजीनीति पार्टी किसानों के आंदोलन का नेतृत्व नहीं कर रही थी, लेकिन हमने किसानों की मांगों को शुरू से ही समर्थन किया है।

पंजाब व यूपी सरकार ने किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले किसान परिवारों को सरकारी नौकरी देने की बात कही है हरियाणा सरकार को भी मृतक किसान परिवार के सदस्यों के लिए नौकरी की व्यवस्था करनी चाहिए। हरियाणा लोकसेवा आयोग में भ्रष्टाचार के मामले पर कहा कि यह काफी गंभीर मामला है। इसकी जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज के करवानी चाहिए। मामले में जांच से सरकार क्यों संकोच कर रही है। एक के बाद एक भर्ती घोटाले सामने आ रहे हैं। ये सरकार घोटालों की सरकार है।

आपको बता दें कि आंदोलन का एक साल पूरा होने पर आज भारी संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं पर पहुंचे हैं। कृषि कानूनों की वापसी के बाद भी किसान आंदोलन समाप्त नहीं हुआ है।

  • Share