कानून व्यवस्था

जहां फंसा था पीएम का काफिला...वहां से 50 किलोमीटर दूर सतलुज नदी में मिली पाकिस्तान नाव

By Vinod Kumar -- January 07, 2022 5:12 pm -- Updated:January 07, 2022 6:01 pm

पंजाब: सीमवार्ती इलाकों में पाकिस्तान कोई ना कोई नापाक हरकत करता रहता है। पाकिस्तान पंजाब से सटी सीमा से हथियार और नशे की तस्करी करता रहता है। कई बार बीएसएफ के जवान इन कोशिशों को नाकाम कर चुके हैं।

अब फिरोजपुर में BSF ने सतलुज नदी से एक पाकिस्तानी नाव बरामद की है। बरामदगी के समय यह नाव खाली थी। ये नाव ऐसे समय में मिली है जब पंजाब में पीएम की सुरक्षा का मामला राष्ट्रीय बहस का विषय बना हुआ है और एक केंद्रीय टीम मामले की जांच के लिए पंजाब पहुंची है। जहां पीएम का काफिला फंसा था ये नाव उससे 50 किलोमीटर की दूरी पर मिली है। अब सुरक्षा एजेंसियों ने मामले की जांच शुरू कर दी है। यह पता लगाया जा रहा है कि यह नाव यहां कब आई, इसमें कौन लोग सवार थे और इसे यहां लाए जाने का मकसद क्या था।

सतलुज नदी में पाकिस्तानी बोट मिलने के बाद BSF ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। बीएसएफ की टीम आसपास के इलाकों को खंगालने में जुट गई है। यह पता लगाया जा रहा है कि कहीं कुछ लोग नाव में सवार होकर भारतीय सीमा में तो नहीं आए। हालांकि अभी तक कुछ हाथ नहीं लगा है।

इसे पाकिस्तान के जरिए नशा और हथियार भेजने की कोशिश से भी जोड़कर देखा जा रहा है। चूंकि पाकिस्तान से आने वाले ड्रोन अब सुरक्षा एजेंसियों के निशाने पर हैं। खासकर, पंजाब में बीएसएफ का दायरा भी 50 किमी तक बढ़ा दिया गया है। ऐसे में ड्रोन के अलावा कहीं नाव से तो कुछ संदिग्ध सामान तो नहीं भेजा गया।

संवेदनशील है फिरोजपुर जिला
फिरोजपुर पाकिस्तान की सीमा से सटा होने की वजह से फिरोजपुर बेहद संवेदनशील जिला है। जहां PM का काफिला रुका था, वह जगह भी पाकिस्तान सीमा से महज 50 किमी दूरी पर है। इस क्षेत्र में कई बार टिफिन बम और विस्फोटक मिल चुके हैं। नवंबर में दिवाली से पहले भी भारत-पाक सीमा के गांव से पुलिस ने टिफिन बम बरामद किया था। यहां से हैंड ग्रेनेड भी बरामद किए जा चुके हैं।

  • Share