कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों पर बोले सीएम जयराम- नियंत्रण में है स्थिति

Chief Minister Jairam Thakur on Corona Cases Increase in Himachal

शिमला। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पिछले कुछ दिनों कोरोना महामारी के मामलें बढ़े हैं लेकिन स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार इस महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार को हर संभव सहायता प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के आग्रह पर केन्द्र सरकार ने राज्य को अतिरिक्त 500 वेंटिलेटर उपलब्ध करवाएं हैं।

दरअसल मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला शिमला के चौपाल विधानसभा क्षेत्र में लगभग 188 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं की आधारशिला रखने के दौरान बोल रहे थे।

शिमला से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला शिमला का चौपाल विधानसभा क्षेत्र भौगोलिक व सांस्कृतिक मामले में मण्डी जिला के सिराज विधानसभा क्षेत्र के समान है। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र विकास के मामले में कई वर्षों तक उपेक्षित रहा है। लेकिन अब एक मेहनती और युवा नेता के प्रतिनिधित्व में चैपाल क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास हो रहा है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि जुलाई 2018 में चौपाल विधानसभा क्षेत्र के पिछले दौरे के दौरान 165 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं के शिलान्यास किए थे, जिसमें से अधिकतर का लोकार्पण कर दिया गया है और शेष का कार्य प्रगति पर है। उन्होंने कहा कि चैपाल विधानसभा क्षेत्र में अधिकतर योजनाएं पीएमजीएसवाई और नाबार्ड के अन्तर्गत कार्यान्वित की जा रही है। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय विधायक बलबीर वर्मा को भी जाता है, जिन्होंने विभिन्न स्तरों पर इन परियोजनाओं की निगरानी की तथा पूरे होने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि चौपाल विधानसभा के क्षेत्र के लोगों ने भी पीएम केयर और मुख्यमंत्री कोविड-19 फंड में उदारता से योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने चल रहे सेब सीज़न के दौरान सेब उत्पादन को सुचारू रूप से चलाने के लिए परिवहन की पर्याप्त व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि फल उत्पादकों को फसल की पैकिंग और देश की विभिन्न मण्डियों तक पहुंचाने के लिए फलों की पैकिंग के लिए कार्टन बॉक्स और ट्रे की पर्याप्त व्यवस्था की है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि किसानों को एन्टीहेल नेट और अन्य पौध सुरक्षा सामग्री काफी रियायती दरों पर प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि किसानों को नकदी फसलों को उगाने के लिए प्रेरित करने के लिए अधिकतर कृषि क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा प्रदान करने के भी प्रयास किए जा रहे हैं।

—PTC NEWS—