मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने एनसीसी स्थापना दिवस पर साईकिल रैली को दिखाई झंडी

Kesani Anand Arora
मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने एनसीसी स्थापना दिवस पर साईकिल रैली को दिखाई झंडी

चंडीगढ़। हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने हरियाणा सिविल सचिवालय से एनसीसी के स्थापना दिवस पर बेटियों को समर्पित करते हुए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत जागरूक करने के लिए एनसीसी कैडेट्स की साईकिल रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर उन्होंने साईकिल रैली में शामिल एनसीसी कैडेट्स को पाँच-पाँच हजार रुपये प्रोत्साहन स्वरूप देने की घोषणा की। उन्होंने शुक्रवार को चंडीगढ़ में बेटियों से कहा कि उन्हें स्वंय को स्वयं को सशक्त करना अति आवश्यक है, ऐसा कुछ भी नहीं है जो बेटियां हासिल नहीं कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि आज के समय में लड़कियां हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। बेटियों को सशक्त करना एक जन अभियान है और इसके लिए समाज के सभी वर्गों को मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है।

Beti Bachao
मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने एनसीसी स्थापना दिवस पर साईकिल रैली को दिखाई झंडी

मुख्य सचिव ने हरियाणा सिविल सचिवालय से एनसीसी के स्थापना दिवस पर बेटियों को समर्पित करते हुए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत जागरूक करने के लिए एनसीसी कैडेट्स की साईकिल रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने कहा कि एनसीसी की स्थापना वर्ष 1948 में हुई थी और आज यह लगभग 15 लाख कैडेट्स के साथ विश्व का सबसे बड़ा वर्दीधारी संगठन है। यह युवाओं को एकता एवं अनुशासन पर चलते हुए राष्ट्र की एकता एवं अनुशासन, धर्मनिरपेक्षता और आपसी भाई-चारे को बनाते हुए समाज सेवा में अग्रसर रहने का संदेश देता है और युवाओं को शस्त्र सेनाओं में अपना केरियर बनाने के लिए भी प्रेरित करता है। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर उन्हें अत्यंत हर्ष व गर्व हो रहा है कि एनसीसी कैडेटस बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जागरूकता रैली में भाग ले रहे हैं और अपने अथक परिश्रम से प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एनसीसी संगठन मानवता की सेवा करने के साथ-साथ सामाजिक कुरितियों को दूर करने में अपनी भागीदारी दें और देश व प्रदेश में ज्ञान का प्रकाश करें। कार्यक्रम के दौरान एनसीसी के ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर राजेश्वर सिंह ने बताया कि प्रदेश में लगभग 15 हजार एनसीसी कैडेट्स हैं, जिनमें से 6 हजार गर्ल कैडेट्स हैं और इनमें से 4 हजार लड़कियां बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ में प्रत्यक्ष रूप से अपना योगदान दे रही हैं। ये लड़कियां विभिन्न जगारूकता रैलियों और पंचायतों में जाकर पंचों से वार्तालाप कर बेटियों को आगे बढऩे के लिए प्रेरित कर रही हैं। इस अवसर पर मुख्य सचिव ने एनसीसी की परंपरा के अनुसार कैडेट्स को मिठाई भेंट की और उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

यह भी पड़ेंडिपो होल्डर और अधिकारी आपसी मिली भगत से डाल रहे गरीबों के पेट पर डाका 

—PTCNews—