बाजारों में होली पर नहीं दिख रही रौनक, गुलाल-पिचकारी खरीदने वालों की संख्या घटी

Holi celebrations in India
बाजारों में होली पर नहीं दिख रही रौनक, गुलाल, पिचकारी खरीदने वालों की संख्या घटी

रोहतक/अंबाला। कोरोना संक्रमण ने होली के रंग को एक बार फिर बेरंग कर दिया है। पिछले साल की तरह इस साल भी व्यापारियों की कमाई पर असर पड़ रहा है। कोरोना के चलते लगी पाबंदियों की वजह से होली बाजार में कोई विशेष रौनक दिखाई नहीं दे रही। दुकानदारों की माने तो सिर्फ 25 प्रतिशत तक बिक्री हो रही है।

Holi celebrations in India
बाजारों में होली पर नहीं दिख रही रौनक, गुलाल, पिचकारी खरीदने वालों की संख्या घटी

आमतौर पर होली के त्योहार पर आम आदमी उत्साह के साथ बाजारों में रंग – गुलाल, पिचकारी, मास्क, टोपी, गुब्बारे समेत होली में इस्तेमाल होने वाला सामान खरीदने पहुंचते थे। लेकिन, कोरोना के चलते होली का सामान कम मात्रा में नजर आ रहा है। त्योहार के समय बाजारों को जमकर सजाया जाता है लेकिन इस बार व्यापारियों की निराशा आसानी से दिखाई दे रही है। लोग भी होली बाजार में रुचि नहीं दिखा रहे।
किला रोड की मशहूर मार्केट में स्थित दुकानदार प्रवीण की माने तो कोरोना ने उनके व्यापार पर खासा असर डाला है। पिछले वर्ष भी कोरोना की वजह से उन्हें लाखों रुपयों का नुकसान झेलना पड़ा था। होली के त्योहार पर अमूमन सात से दस हजार रुपए तक बिक्री एक दिन में हुआ करती थी लेकिन इस बार पूरे दिन में सिर्फ 25 से 50 प्रतिशत तक ही सामान बिक रहा है।

यह भी पढ़ें- हाई-स्पीड रेल से डेढ़ घंटे में तय हो हिसार एयरपोर्ट से दिल्ली का सफर: दुष्यंत चौटाला

यह भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल की 30 और असम की 47 विधानसभा सीटों पर मतदान 

Holi celebrations in India
बाजारों में होली पर नहीं दिख रही रौनक, गुलाल, पिचकारी खरीदने वालों की संख्या घटी

कुछ ऐसे भी दुकानदार हैं जो पुराना स्टॉक बेचने पर मजबूर हैं। दुकानदार का कहना है की होली पर्व को लेकर बड़ी मात्रा में स्टाक रखे हैं। लेकिन स्टाक निकलेगा या नहीं इसकी चिंता सता रही है। कोरोना आने के बाद बाजार की रौनक पूरी तरह से गायब हो गई।

Holi celebrations in India
बाजारों में होली पर नहीं दिख रही रौनक, गुलाल, पिचकारी खरीदने वालों की संख्या घटी

गौर हो कि हरियाणा में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए हरियाणा सरकार ने होली मनाने पर बैन लगा दिया है। हालांकि सरकार ने होली मनाने पर बैन लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के मद्देनज़र लगाया है। लेकिन दुकानदारों को इसकी वजह से काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है। दुकानदारों का कहना है कि सरकार को होली मनाने पर बैन 1 महीना पहले लगाना चाहिए था ताकि वो अपनी दुकान में होली से संबंधित माल ना मंगवाते।