पीड़ित पिता ने लगाई फरियाद, दुःख की घड़ी में जाना चाहता है परिवार के पास

By Arvind Kumar - April 16, 2020 12:04 pm

रेवाड़ी। (मोहिंदर भारती) कोरोना वायरस संक्रमण के ख़तरे के बाद देश में लगा लॉकडाउन अब उन प्रवासियों पर भारी पड़ रहा है जो दूसरे राज्यों से रोज़ी-रोटी कमाने हरियाणा में आए थे। यूपी के बांदा जिले के गांव मुहूखर निवासी बाबू पिछले दो वर्षों से हरियाणा के रेवाड़ी में मज़दूरी करने करने के लिए आया था। लॉकडाउन के बाद बाबू के 5 वर्षीय बेटा ज्ञान की पानी में डूबने से दर्दनाक मौत हो गई। परिवार के लोगों ने मृत बेटे को सीने से लगागर विलाप करती उसकी पत्नी सुदेश का एक वीडियो उसके whasapp पर भेजा है। वीडियो देखने के बाद से पीड़ित पिता इस दुःख की घड़ी में अपने परिवार के पास जाने के लिए पीएम मोदी से फ़रियाद कर रहा है। ताकि इस दुःख के समय में वह अपनी पत्नी का सहारा बन सके।

Coronavirus Haryana Father Request To PM Modi | Haryana Lockdown पीड़ित पिता ने लगाई फरियाद, दुःख की घड़ी में जाना चाहता है परिवार के पास

आपको बता दें कि बाबू पुत्र सुरजा यूपी के बांदा जिले से 6 किलोमीटर दूर गांव मुहूखर का रहने वाला है। जो परिवार के लिए दो जून की रोटी कमाने पिछले दो वर्षों से हरियाणा के रेवाड़ी में आया हुआ था। कोरोना संक्रमण के ख़तरे को देखकर देश में लॉकडाउन किया गया है। बाबू का 5 साल का बेटा ज्ञान सिंह खेलते समय पानी के हौद में डूब गया जिसकी मौत हो गई। बाबू के घर पर उसकी पत्नी सुदेश 11 वर्षीय बेटी रेशमा, 8 वर्षीय बेटा मानसिंह व साढ़े 6 वर्षीय बेटा जय इस दुःख की घड़ी में अकेले है। पीड़ित पिता ने पीएम मोदी से उसे उसके परिवार के पास भेजने की फ़रियाद की है। अब देखना होगा कि लॉकडाउन में इस पिता की फ़रियाद प्रशासन सुन पाएगा।

---PTC NEWS----

adv-img
adv-img