हरियाणा में घटा क्राईम ग्राफ, अक्तूबर में अपराध दर में आई 12.73% की गिरावट

Crime 1
हरियाणा में घटा क्राईम ग्राफ, अक्तूबर में अपराध दर में आई 12.73% की गिरावट

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस द्वारा अपराध पर लगातार की जा रही सख्ती से अपराध का ग्राफ तेजी से नीचे गिर रहा है। अक्टूबर 2019 के दौरान गत वर्ष इसी अवधि की तुलना में अपराध की औसत संख्या में 12.73 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है। इसी प्रकार, क्राईम अगेंस्ट पर्सन व क्राईम अगेंस्ट प्रोपर्टी के मामलों में भी क्रमशः 7.71 प्रतिशत तथा 12 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है।

dgp
हरियाणा में घटा क्राईम ग्राफ, अक्तूबर में अपराध दर में आई 12.73% की गिरावट

पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इस साल अक्टूबर माह में विभिन्न पुलिस थानों में हत्या, हत्या का प्रयास, बलात्कार, अपहरण व अन्य घटनाओं के कुल 10,316 मामले दर्ज किए गए जो 2018 में इसी अवधि के दौरान दर्ज 11,821 मामलों से 1,505 कम है। उन्होंने कहा कि पिछले साल अक्टूबर में दर्ज क्राईम अगेंस्ट पर्सन के मामलों की संख्या 2710 से घटकर 2501 रह गई। इसी प्रकार, क्राईम अगेंस्ट प्रोपर्टी से संबधित अपराध की कुल 2867 घटनाएं दर्ज हुई, जो पिछले साल अक्टूबर की इसी अवधि में दर्ज 3260 मामलों से 393 कम हैं। हत्या की दर में 13.13 प्रतिशत व बलात्कार की घटनाओं में 23.7 प्रतिशत की गिरावट देखी गई।

Murder
हरियाणा में घटा क्राईम ग्राफ, अक्तूबर में अपराध दर में आई 12.73% की गिरावट

क्राईम अगेंस्ट पर्सन के आंकड़ों को साझा करते हुए यादव ने बताया कि अक्टूबर 2019 में हत्या के मामले 99 से घटकर 86 रह गए जबकि हत्या के प्रयास के मामलों की संख्या 77 से कम होकर 66 हुई। इसी प्रकार, बलात्कार की 37 घटनाएं कम हुई जो 2018 में दर्ज 156 से घटकर 119 रह गई। इस अवधि में अपहरण मामलों की संख्या 330 से घटकर 296, गलत तरीके से कैद की घटनाएं 167 से कम होकर 96 व दंगों आदि के मामले 273 से कम होकर 256 रह गए। अक्टूबर 2019 में सरकारी कार्य में बाधा व कर्मचारी पर हमले से संबधित 56 केस दर्ज किए गए, जबकि 2018 में यह आंकड़ा 88 था।

डीजीपी ने कहा कि अक्टूबर 2019 में भी डकैती, लूट, स्नैचिंग, सेंधमारी और चोरी जैसे संपत्ति से संबधित अपराध के मामलों में भी 2018 की इसी अवधि की तुलना में कमी देखी गई। डकैती के मामले 19 से कम होकर 8 रह गए, लूट के 107 से घटकर 89, स्नैचिंग के 243 से कम होकर 184, सेंधमारी के 646 से कम होकर 566 व चोरी की घटनाएं 2245 से घटकर 2020 रह गई।

डीजीपी ने कहा कि क्राईम ग्राफ में यह गिरावट प्रभावी पुलिसिंग व त्वरित कार्रवाई के कारण संभव हो सकी है। राज्य में कानून व्यवस्था पूरी तरह से नियंत्रण में है। नागरिकों की सुरक्षा व कानून व्यवस्था को बनाए रखने के साथ-साथ अपराध की रोकथाम व नियंत्रण हेतू राज्य पुलिस द्वारा गैंगस्टर व अन्य अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें : पहले पत्नी फिर भाई और भतीजी पर चलाई गोली, उसके बाद जो हुआ…

—PTC NEWS—