नौकरी से निकालने और वेतन ना देने के खिलाफ पर्यटन विभाग के कर्मचारियों का प्रदर्शन

Demonstration of employees of Tourism Department against being fired and not paid

फरीदाबाद। फरीदाबाद में पर्यटन विभाग के अंतर्गत कार्यरत करीब 128 कर्मचारियों को ड्यूटी से निकाले जाने और पिछले 3 महीने से वेतन ना देने के विरोध में मैगपाई और सूरजकुंड टूरिस्ट कंपलेक्स में फरीदाबाद के सैकड़ों पर्यटन विभाग से जुड़े हुए कर्मचारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग अपनाते हुए जोरदार प्रदर्शन किया। मैगपाई होटल में धरने पर बैठे कर्मचारियों ने कहा कि जबसे कोरोना महामारी का समय शुरू हुआ है तभी से सभी कर्मचारी पर्यटन विभाग के होटलों में रुके हुए स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा कर रहे हैं और अपने परिजनों से दूर रहकर अपनी ड्यूटी भी पूरी कर रहे हैं।

कर्मचारियों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा था कि ना ही किसी को नौकरी से निकाला जाएगा और ना ही किसी का वेतन काटा जाएगा। मगर हरियाणा में 400 कच्चे कर्मचारियों को पर्यटन विभाग ने नौकरी से निकाल दिया है और पिछले 3 महीने से कार्यरत कर्मचारियों को वेतन भी नहीं दिया गया है।

ऐसे में साफ है कि सरकार की कथनी और करनी में कितना अंतर है। हरियाणा टूरिज्म के कच्चे कर्मचारियों ने प्रदर्शन करते हुए चेतावनी दी है कि जितने भी कर्मचारियों को नौकरी से निकाला गया है उन्हें बहाल किया जाए और रुका हुआ वेतन भी सभी कर्मचारियों को दिया जाए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो पूरे हरियाणा के टूरिज्म कर्मचारी धरने प्रदर्शन करें।

—PTC NEWS—