हरियाणा

एक घंटे में ही बदल गई कोरोना रिपोर्ट, एक जगह पॉजिटिव तो दूसरी जगह नेगेटिव

By Arvind Kumar -- July 12, 2020 10:07 am -- Updated:Feb 15, 2021

पलवल। (गुरदत्त गर्ग) एक घंटे के अंतराल पर पलवल और नल्हड मेडिकल कालेज में कराए गये कोविड टेस्ट की रिपोर्ट अलग-अलग आने से कई सवाल उठ खड़े हुए हैं। पलवल जिला अस्पताल ने मरीज को नेगेटिव बताया जबकि नल्हड़ मेडिकल कालेज ने मरीज कोविड 19 पॉजिटिव बता दिया। इसे लेकर मरीज के परिजन मुखर हो गए हैं। परिजनों ने मेडिकल कॉलेज की पूरी जांच एवं तौर–तरीकों पर ही सवाल उठाते हुए उच्चाधिकारियों से जांच की मांग की ताकि अन्य किसी के साथ ऐसा नहीं हो।

लवल के चांदहट गाँव निवासी किशन सिंह के पुत्र शीतल-रवि और प्रशांत जाखड़ ने बताया कि उनके ताऊ किशन सिंह जो मात्र 57 वर्ष के थे, उन्हें 9 जुलाई को सामान्य बुखार और खांसी होने पर इलाज के लिए जिला अस्पताल पलवल लाया गया था। यहां आते ही उनका कोविड 19 टेस्ट के लिए सैम्पल कराने के बाद मामूली जांच के बाद नल्हड मेडिकल कॉलेज मेवात के लिए रेफर कर दिया गया।

Discrepancy in Corona Test Report | Coronavirus Haryana

वहां भी जाते ही सबसे पहले कोविड 19 टेस्ट के लिए सैम्पल लिया था। उसके बाद वार्ड में भर्ती कर अपना ईलाज शुरू कर दिया। लेकिन अगले ही दिन 10 जुलाई को सुबह के समय उनकी मौत हो गई लेकिन उन्हें कोरोना की रिपोर्ट नहीं आने के कारण शव नहीं दिया गया। शाम को करीब चार बजे पहले जिला अस्पताल पलवल की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आई और उन्हें बताया की किशन सिंह की रिपोर्ट नेगेटिव है लेकिन थोड़ी ही देर बाद नल्हड वालों ने उन्हें बताया की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इसलिए शव वे उन्हें ना देकर खुद अंतिम संस्कार करायेंगे।

परिजनों ने कहा कि अगले दिन 11 जुलाई को दोहपर बाद सरकारी गाड़ी से मृतक किशन सिंह के शव को एक सुनसान स्थल पर ले जाकर छोड़ दिया गया जहां पर उन्हें कहा गया कि शव के साथ आप जो करना चाहते हैं कर सकते हैं। फिर उन्होंने खुद ही मृतक का अपने परिवार-रिश्तेदार और गांव वालों से दूर बिना रिवाज पूरे किये ही दाह संस्कार किया।

Discrepancy in Corona Test Report | Coronavirus Haryana

पलवल जिला अस्पताल के डिप्टी सीएमओ एवं कोविड इंचार्ज डॉ. शुरेश कुमार ने पलवल तथा मेवात स्थित नल्हड मेडिकल कॉलेज की कोविड 19 टेस्ट रिपोर्ट अलग- अलग आने के सवाल का उत्तर देते हुए कहा की कोविड टेस्ट के अलग- अलग कई मेथड हैं, हमने जिस मेथड आरटीपीसीआर के टेस्ट कराया उसकी रिपोर्ट बिलु्कल सही आती है| लेकिन उन्होंने किस मेथड का उपयोग किया है उसकी जांच रिपोर्ट वहां से आने के बाद ही कुछ बता सकते हैं|

---PTC NEWS---