बिजली निगम के 2 एसडीओ और 2 जेई सहित कुल 8 अधिकारी सस्पेंड, ये है वजह

2 SDOs Suspended
बिजली निगम के 2 एसडीओ और 2 जेई सहित कुल 8 अधिकारी सस्पेंड, ये है वजह
  • टोहाना में बिजली निगम ने जारी किए 89 ट्यूबवेल कनेक्शन
  • डीएचबीवीएन के 2 एसडीओ 2 जेई सहित 8 अधिकारी सस्पेंड
  • भूजल स्तर को लेकर डार्क जोन में है टोहाना

टोहाना। (सतीश अरोड़ा) फतेहाबाद जिले में टोहाना में बिजली निगम के 2 एसडीओ और 2 जेई सहित कुल 8 अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इन सभी अधिकारियों पर आरोप है कि इन्होंने भू-जल स्तर को लेकर टोहाना खंड के डार्क जोन में होने के बावजूद बिजली के नए ट्यूबवेल कनेक्शन जारी किए और कई ट्यूबवेल कनेक्शनों का लोड भी बढ़ाया।

2 SDOs Suspended
बिजली निगम के 2 एसडीओ और 2 जेई सहित कुल 8 अधिकारी सस्पेंड, ये है वजह

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम टोहाना के एक्सईएन रणधीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि टोहाना क्षेत्र भूजल स्तर को लेकर डार्क जोन में है और डिपार्टमेंट के 2 एसडीओ, 2 जेई और चार क्लर्क की ओर से नए ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने की प्रक्रिया को अंजाम दिया गया, जिस पर मुख्यालय की ओर से एक्शन लिया गया है।

यह भी पढ़ें- कॉलेज से पेपर देकर बाहर निकली छात्रा की गोली मारकर हत्या

2 SDOs Suspended
बिजली निगम के 2 एसडीओ और 2 जेई सहित कुल 8 अधिकारी सस्पेंड, ये है वजह

एक्सईएन ने बताया कि 2 एसडीओ के सस्पेंशन आदेश प्राप्त हो चुके हैं, जबकि 2 जेई और 4 क्लर्क के सस्पेंशन ऑर्डर जारी करने की जानकारी प्राप्त हो चुकी है और ऑफिस में आर्डर अभी प्राप्त होने पेंडिंग है।

यह भी पढ़ें- 30 और 31 अक्टूबर को गठबंधन प्रत्याशी योगेश्वर के समर्थन में प्रचार करेंगे डिप्टी सीएम

2 SDOs Suspended
बिजली निगम के 2 एसडीओ और 2 जेई सहित कुल 8 अधिकारी सस्पेंड, ये है वजह

बताया गया है कि जिन अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है उन्होंने 90 से अधिक ट्यूबवेल कनेक्शन का लोड बढ़ाया जबकि 89 नए ट्यूबवेल कनेक्शन जारी कर दिए।

educare
एक्सईएन के मुताबिक वर्ष 2016 में सरकार की ओर से टोहाना क्षेत्र को भूजल स्तर की दृष्टि से डार्क जोन में घोषित किया हुआ है और इसलिए यहां पर नए ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने को लेकर रोक लगी हुई है। ऐसे में नियम के विपरीत जाकर ये सभी कनेक्शन जारी किए गए और इसी के चलते मुख्यालय की ओर से इन अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ सस्पेंशन की कार्रवाई की गई है।