किसान नेता गुरनाम चढूनी ने कहा- मिशन पंजाब जारी रहेगा

By Arvind Kumar - August 01, 2021 3:08 pm

बहादुरगढ़। (प्रदीप धनखड़) किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने एक बार फिर से पंजाब चुनाव का राग छेड़ दिया है। चढूनी का कहना है कि वो मिशन पंजाब पर आज भी कायम हैं। बहादुरगढ़ के रोहद टोल पर किसान यात्रा में शामिल होने आए चढूनी ने कहा कि जब तक किसान सत्ता में नहीं आएगा तब तक किसान का पूरा भला नहीं हो सकता है।

उन्होंने कहा कि केवल भाजपा को हराने से तीनों कृषि कानून वापिस होने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अगर कृषि कानून वापिस हो भी गए तो केवल किसान का डेथ वारंट कैंसिल होगा। किसान की हालत आज वैंटिलेटर पर है और किसान का सम्पूर्ण भला करने के लिए लुटेरे गिरोह से सत्ता छीनकर किसान को अपने हाथ में लेनी होगी।

यह भी पढ़ें- पुलवामा में जैश का टॉप मोस्ट वांटेड आतंकवादी ढेर

यह भी पढ़ें- अनिल विज के जनता दरबार में उमड़ी भीड़, प्रदेशभर से फरियाद लेकर पहुंचे लोग

बता दें कि गुरनाम चढूनी को संयुक्त मोर्चा से 7 दिन के लिए सस्पैंड भी कर दिया गया था क्योंकि उन्होंने मिशन यूपी की जगह मिशन पंजाब शुरू करने की बात कही थी। चढूनी ने कहा कि उन्होंने संयुक्त मोर्चा की दी हुई सजा भुगत ली है क्योंकि वो नहीं चाहते कि किसान आन्दोलन दो फाड़ ना होने पाए।

चढूनी ने कहा कि पंजाब में 80 से 90 लाख वोट किसानों की है और 69 लाख वोटों से सरकार बनी हुई है। चढूनी से जब पूछा गया कि वो संयुक्त मोर्चा के साथियों को ये बात क्यों नहीं समझा रहे तो उन्होंने कहा कि सब थोड़े की समझ पाते हैं।

गुरनाम चढूनी ने किसान आन्दोलन में खालिस्तानी घुसपैठ के सवाल पर कहा कि कुछ चीजें ऐसी होती है जिन पर ना बोले तो गलत और बोले तो भी गलत है। दरअसल गुरनाम चढूनी के नेतृत्व में आज किसानों की एक यात्रा रोहद टोल से शुरू होकर सिंधु बॉर्डर पहुंची है। गुरनाम चढूनी ने कहा कि किसान यात्रा का संदेश सरकार और किसान दोनों के लिए है। सरकार के लिए ये कि किसान सोया हुआ नहीं है और किसानों के लिए ये कि आन्दोलन अभी बाकि है।

adv-img
adv-img