किसानों ने पराली में आग लगाने का सर्वे करने आए अधिकारियों को बनाया बंधक

Stubble Burning in Village
किसानों ने पराली में आग लगाने का सर्वे करने आए अधिकारियों को बनाया बंधक

टोहाना। (सतीश अरोड़ा) जाखल खंड के गांव मुंदलिया में खेत में धान के अवशेष जलाने से रोकने आए कृषि विभाग के बीओ और एडीओ, हलका पटवारी और ग्राम सचिव को किसानों ने बंधक बना लिया। बंधक बनाने उपरांत गुस्साए किसानों ने जमकर नारेबाजी की।
घटना की जानकारी मिलने पर जहां चांदपुरा व सिधानी गांव से भी किसान मौके पर पहुंच गए। वहीं कृषि विभाग के अधिकारियों को बंधक बनाने की सूचना पर जाखल थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने किसानों को समझाया और उनके खिलाफ कोई कार्रवाई न किए जाने का आश्वासन देकर अधिकारियों को मुक्त करवाया।

यह भी पढ़ें- बिहार चुनाव: नड्डा ने विरोधियों पर साधा निशाना, कही ये बात

Stubble Burning in Village
किसानों ने पराली में आग लगाने का सर्वे करने आए अधिकारियों को बनाया बंधक

ग्रामीणों ने भी अधिकारियों से उन्हें पराली को समेटने के लिए उपकरण उपलब्ध करवाए जाने की मांग की। किसान ने बताया कि उनके गांव में किसी भी किसान ने पराली को आग नहीं लगाई है क्योंकि कुछ रोज़ पहले तलवाड़ा में किसानों ने जाम लगाया था तो वहां पहुंचे अधिकारियों ने 28 अक्टूबर तक उपकरण उपलब्ध करवाए जाने का आश्वासन दिया था लेकिन अभी तक कोई उपकरण नहीं है।

यह भी पढ़ें- कुमारी सैलजा बोलीं- बरोदा उपचुनाव में भाजपा बैकफुट पर

Stubble Burning in Village
किसानों ने पराली में आग लगाने का सर्वे करने आए अधिकारियों को बनाया बंधक

ऐसे में किसान मजबूर हैं, आग लगाने के इलावा उनके पास कोई अन्य चारा नहीं है। आज कर्मचारी गांव में आये थे जिनको ग्रामीणों ने बंधक बनाया है।

Stubble Burning in Village
किसानों ने पराली में आग लगाने का सर्वे करने आए अधिकारियों को बनाया बंधक

कृषि विभाग अधिकारी ने बताया कि उनके विभाग की टीम के साथ हलका पटवारी, ग्राम सचिव गांव में धान की फसल का जायजा लेने आये थे और किसानों से ये भी आग्रह किया कि धान की फसल काटने के बाद पराली में आग न लगाएं। इस दौरान किसानों ने कृषि विभाग की टीम, पटवारी हलका व ग्राम सचिव को बंधक बना लिया।