करनाल धरना खत्म, प्रशासन और किसानों के बीच बनी सहमति

By Arvind Kumar - September 11, 2021 11:09 am

करनाल। करनाल लघु सचिवालय के बाहर लगा किसानों का धरना संपन्न हो गया है। किसानों और प्रशासन के बीच सहमति बन गई है। प्रशासन और किसानों की ओर से आयोजित संयुक्त प्रेसवार्ता में इस बात का ऐलान किया गया। करनाल में स्थानीय प्रशासन और किसान नेताओं की संयुक्त प्रेस वार्ता में अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह ने बताया कि आम सहमति से निर्णय हुआ है कि सरकार 28 अगस्त को हुए घटना की हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज से न्यायिक जांच करवाएगी। जांच 1 महीने में पूरी होगी।

पूर्व एसडीएम आयुश सिन्हा इस दौरान छुट्टी पर रहेंगे। हरियाणा सरकार मृतक किसान सतीश काजल के 2 परिवारजनों को करनाल ज़िले में डीसी रेट पर सेंक्शन पोस्ट पर नौकरी देगी।

बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को करनाल के लघु सचिवालय के सभागार में जिला प्रशासन व किसान प्रतिनिधियों के बीच लगभग 4 दौर की बातचीत करीब 4 घंटे चली। इस बातचीत की अध्यक्षता अतिरिक्त प्रधान सचिव देवेन्द्र सिंह ने की। इस मौके पर उपायुक्त निशांत कुमार यादव, पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया तथा एसीयूटी प्रदीप कुमार उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें-  मेट्रो स्टेशन पर सादी वर्दी में खड़ी थी महिला पुलिस, मनचलों ने कहा- 'आ चलती क्या?'

यह भी पढ़ें- अगले महीने से नहीं चलेगी इन बैंकों की चेकबुक, नई के लिए तुरंत करें अप्लाई


4 घंटे से ज्यादा लम्बी बैठक के बाद जैसे ही किसानों की 15 सदस्सीय कमेटी बाहर आई तो उनके चेहरे पर खुशी साफ झलक रही थी लेकिन मीडिया से बातचीत में उन्होंने खुलकर कुछ नहीं कहा। इसी के बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि जल्द ही किसानों का धरना संपन्न होगा।

adv-img
adv-img