पूर्व सैनिक की सराहनीय पहल, अपनी पेंशन व बेटे का एक महीने का वेतन आर्मी रिलीफ फंड में दिया

Former Armyman
सराहनीय पहल, अपनी पेंशन व बेटे का एक महीने का वेतन आर्मी रिलीफ फंड में दिया

भिवानी। (किशन सिंह) जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले में शहीद हुए सैनिकों की शहादत को पूरा देश सलाम कर रहा है। हर कोई अपने-अपने तरीके से शहीदों को नमन कर रहा है। कोई प्रदर्शन कर पाकिस्तान के खिलाफ रोष जता रहा है तो कोई पाक की नापाक व कायराना हरकत को लेकर कैंडल मार्च निकाल रहा है। कोई पाकिस्तान के झंडे जला रहा है। हर कोई सरकार से बदला लेने की मांग कर रहा है। इसी बीच भिवानी जिला में पहली बार एक रिटायर्ड फौजी ने शहीदों को शहादत को सलाम करते हुए आर्थिक मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाए हैं।

Former Armyman
रिटार्यड फौजी ने पुलवामा के शहीदों की शहादत को सलाम करते हुए उनकी आर्थिक सहायता की सराहनीय शुरुआत की है

भिवानी के एक रिटायर्ड फौजी ने पुलवामा के शहीदों की शहादत को सलाम करते हुए उनकी आर्थिक सहायता की सराहनीय शुरुआत की है। इस फौजी ने अपनी एक महीने की पेंशन व अपने डीएसपी बेटे का एक माह का वेतन आर्मी के रिलीफ फंड में दान दिया है। खुद प्रशासन ने इस पहल की सरहाना करते हुए अन्य लोगों से भी मदद के लिए आगे आने की अपील की है।

Former Armyman
प्रदीप समोता ने अपनी एक माह की पेंशन व अपने डीएसपी बेटे का एक माह का वेतन इन शहीदों के परिवारों की आर्थिक मदद के लिए दान दिया है।

ये रिटायर्ड फौजी गांव दिनोद निवासी प्रदीप समोता हैं। प्रदीप समोता के बेटे परमजीत समोता अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर हैं और फिलहाल जीन्द में डीएसपी पद पर तैनात हैं। कहते हैं एक फौजी ही दूसरे फौजी के दर्ज को ज्यादा समझ सकता है। ऐसे में प्रदीप समोता ने अपनी एक माह की पेंशन व अपने डीएसपी बेटे का एक माह का वेतन इन शहीदों के परिवारों की आर्थिक मदद के लिए दान दिया है।

ADC
पूर्व फौजी की इस पहल को खुद एडीसी संगीता तेतरवाल ने सराहनीय पहल बताया है।

उन्होंने एडीसी संगीता तेतरवाल को 81 हजार रुपये का चैक सौंपा है। साथ ही उन्होंने पूरे देशवासियों से अपील की है कि वो अपनी नेक कमाई से चाहे एक या सो रुपये दें पर, दें जरूर। पूर्व फौजी की इस पहल को खुद एडीसी संगीता तेतरवाल ने सराहनीय पहल बताया है।

यह भी पढे़ंपुलवामा हमले के बाद जैश के समर्थन में डाली पोस्ट, छात्र सस्पेंड