यमुनानगर में गैंगस्टरों की दहशत में एक 12 साल का बच्चा घायल

Firing in Yamunanagar
यमुनानगर में गैंगस्टरों की दहशत में एक 12 साल का बच्चा घायल
यमुनानगर। बदमाशों के बढ़ते हौंसले ने एक बार फिर गैंगवार को अंजाम दिया है। देर रात बदमाशों ने यमुनानगर में रहने वाले एक युवक के घर गोलियों की बरसात कर दी जिसमें एक 12 साल का बच्चा घायल हो गया। यमुनानगर के जगाधरी नगर कालोनी में हुई इस फायरिंग के बाद पूरे इलाके में दहशत फैल गई। वहीं मौके पर पहुंची पुलिस को जांच के मुताबिक पता चला कि डागर गैंग के बदमाश पवन राठी ने उसके कुछ साथियों के साथ मिलकर यह फायरिंग की है।
Firing
बदमाशों ने यमुनानगर में रहने वाले एक युवक के घर गोलियों की बरसात कर दी
आपको बता दें कि यमुनानगर में कुछ समय पहले से ही कम्मा गैंग और डागर गैंग के बदमाशों का बोलबाला रहा है। जिसमें डागर गैंग ने कम्मा गैंग के बदमाशों को काफी बार मार गिराया है। इस बीच आपस में ही दोनों गैंग के बीच बहुत बार गोलाबारी भी हो चुकी है। लेकिन इन दिनों डागर गैंग जेल से ही अपना नेटवर्क चला रहा है। बताया जा रहा है कि यमुनानगर निवासी रिषी ने एक केस में इनके खिलाफ गवाही दी थी जिसके बाद बदमाश पवन राठी ने जेल से पेरोल के बाद बीती रात रिषी के घर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।
Panipat Police
पैरोल के खत्म होने के बाद बदमाश पवन राठी के खिलाफ जेल वापस ना आने पर पुलिस ने मामला भी दर्ज कर लिया है।
इसके अलावा एक और बात पुलिस के सामने आई है कि यमुनानगर में रिषी अवैध शराब भी बेचता है और इससे पहले भी यह बदमाश रिषी को उठाकर ले गया था और रिषी से हर महीने  उसे 1 लाख रुपये देने की मांग करता था। पैसे ना देने की वजह से यह रिषी को जान से मारने की धमकियां भी देता रहा है। फिलहाल पुलिस अब पूरे मामले की जांच में जुट गई है और पानीपत जेल प्रशासन ने पैरोल के खत्म होने के बाद बदमाश पवन राठी के खिलाफ जेल वापस ना आने पर पुलिस ने मामला भी दर्ज कर लिया है।