शिमला में हरियाणा की युवती से चलती गाड़ी में दुष्कर्म, अर्धनग्न अवस्था में फेंककर आरोपी फरार

DGP Himachal Police
शिमला में हरियाणा की युवती से चलती गाड़ी में दुष्कर्म, अर्धनग्न अवस्था में फेंककर आरोपी फरार

शिमला। (पराक्रम चंद) राजधानी शिमला में एक और गुड़िया हवस का शिकार हो गई। दरिंदों ने भरे बाजार से पहले युवती को अगवा किया और फिर चलती गाड़ी में उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद आरोपी अर्धनग्न हालत में युवती को सड़क पर फेंककर फरार हो गए। घटना के बाद कानून व्यस्था को लेकर सवाल उठाए जा हैं कि कैसे शांतप्रिय प्रदेश की राजधानी में इस तरह की घटना पेश आई।

पीड़ित युवती ने इस घटना की शिकायत ढली थाने में दर्ज करवाई है। अपनी शिकायत में युवती ने एक युवक पर जबरन दुष्कर्म का आरोप लगाया है। युवती के अनुसार उसके साथ चलती गाड़ी में दुष्कर्म किया गया और उसके बाद चलती गाड़ी से फेंक दिया गया। युवती हरियाणा की बताई जा रही है, जो यहां पढ़ाई के सिलसिले में आई थी। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर घटना स्थल का दौरा किया। वहीं पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल भी करवाया है, जिसकी रिपोर्ट का अभी तक इंतजार है।

DGP Himachal Police
डीजीपी एसआर मरडी ने खुद स्पॉट का दौरा कर साक्ष्य जुटाने की बात कही है।

यह भी पढ़ें : रिश्तों का कत्ल, छोटे भाई ने बड़े भाई की गोली मारकर की हत्या ?

डीजीपी एसआर मरडी ने खुद स्पॉट का दौरा कर साक्ष्य जुटाने की बात कही है। पुलिस ने आरोपियों की धर-पकड़ के लिए टीमें बना दी है। मामले की संवेदनशीलता देखकर पुलिस गोपनीय तरीके से घटना की जांच में जुट गई है।
मामले की पुष्टि करते हुए अधिकारी ने बताया कि लड़की की तरफ से इस आशय की शिकायत पुलिस को मिली है। लड़की की शिकायत के आधार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर दी है और आरोपी की तलाश में जुट गई है। लड़की के साथ एक ही व्यक्ति ने दुष्कर्म किया है या एक से अधिक लोग घटना में शामिल इस बात का पुलिस फिलहाल कोई खुलासा नहीं कर रही है।

Gudiya Case
2017 में कोटखाई में नाबालिग से बलात्कार और हत्या का मामला सामने आया था

गौरतलब है कि जुलाई 2017 में कोटखाई में नाबालिग से बलात्कार और हत्या का मामला सामने आया था। जिसने राज्य को हिलाकर रख दिया। मामले को गुड़िया नाम दिया गया। युवती का उस समय अपहरण कर लिया गया था, जब वह स्कूल से घर वापस आ रही थी और उसका शव दो दिन बाद जंगल में मिला था। अभी तक मामले में सीबीआई किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है।

यह भी पढ़ें : देवभूमि की शांत वादियों में जिस्मफरोशी के धंधे का पर्दाफाश