कोरोना से बेसहारा हुए बच्चों के लिए हरियाणा सरकार बनी सहारा, सीएम ने की ये घोषणा

By Arvind Kumar - May 30, 2021 10:05 am

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार को कोविड के कारण माता पिता की मृत्यु के बाद अनाथ हुए बच्चों के लिए की बड़ी राहत की घोषणा की। मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत ऐसे सभी बच्चे जिन्होंने अपने माता-पिता या उनका पालन पोषण करने वालों को खोया है उनको सरकार आर्थिक सहायता देगी।


परिवारों को ऐसे बच्चों का पालन पोषण करने के लिए 18 वर्ष तक 2500 रुपये प्रति बच्चा प्रति महीना राज्य सरकार देगी। 18 वर्ष तक की आयु तक जब तक बच्चा पढ़ाई करेगा तब तक 12000 रुपये अन्य खर्चों के लिए भी सरकार देगी।

यह भी पढ़ें- केंद्र ने राज्यों को 22.77 करोड़ से अधिक टीके कराए उपलब्ध

यह भी पढ़ें- हरियाणा के इस गांव में एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं

Manohar Lal Khattar appealed to farmer leaders suspend protest amid covid19 spreadउन्होंने कहा कि जिन बच्चों के देखभाल करने वाला परिवार का कोई सदस्य नहीं है उनकी देखभाल बाल देखभाल संस्थान करेंगे और बाल देखभाल संस्थान को 1500 रुपए प्रति बच्चा प्रति महीना 18 वर्ष तक सहायता भी सरकार द्वारा प्रदान की जायेगी। यह राशि अवधि जमा के रूप में बैंक खाते में डाल दी जाएगी और 21 वर्ष की आयु होने पर बच्चे को मैच्योरिटी राशि दे दी जाएगी तथा अन्य पूरा खर्चा बाल देखभाल संस्थान द्वारा किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जिन लड़कियों ने किशोरावस्था में अपने माता पिता को खोया है उन्हें कस्तूरबा गांधी बाल विद्यालय में आवासीय शिक्षा मुफ्त दी जाएगी और इन बालिकाओं को मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना के तहत 51000 रुपये भी उनके खाते में डाल दिए जाएंगे, विवाह के समय उन्हें ब्याज सहित पूरी राशि दे दी जाएगी।

adv-img
adv-img