विधानसभा के मॉनसून सत्र के आखिरी दिन सदन में जमकर हुआ हंगामा…दलाल और चौटाला के ड्रामे की वजह से सदन दो बार हुई स्थगित

0
80
Uproar in Assembly

चंडीगढ़, 11 सितंबर: हरियाणा विधानसभा के मॉनसून सत्र का आज तीसरा और अंतिम दिन था. आखिरी दिन विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ. दरअसल विधायक करण दलाल और इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला एक मुद्दे पर आपस में भिड़ गए. नौबत यहां तक जा पहुंची कि दोनों हाथापाई पर उतर आए. जिसके बाद सदन की कार्यवाही कुछ देर के लिए स्थगित कर दी गई. हंगामे को देखते हुए सदन को दो बार स्थगित करना पड़ा. पहले 15 मिनट के लिए सदन स्थगित हुई जिसके तीन बजे तक के लिए सदन को स्थगित करना पड़ा. 3 बजे दुबारा सदन की कार्यवाही शुरू हुई लेकिन उसके बाद भी हंगामा जारी रहा. स्पीकर ने करण दलाल को सदन से एक साल के लिए निलंबित कर दिया. जिसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सदन की मर्यादा उल्लंघन की इस घटना की कड़ी निंदा की और कहा सदन की मर्यादाएं तोड़ी गई हैं जो अच्छी बात नहीं है. उन्होंने कहा कि विधानसभा के नियमों के मुताबिक स्पीकर ने उचित कार्रवाई की है.

करण दलाल के निलंबन के बाद कांग्रेसी विधायकों ने अभय चौटाला के भी निलंबन की मांग की, लेकिन स्पीकर ने प्रस्ताव मानने से इनकार कर दिया जिसके बाद कांग्रेस के विधायकों ने सदन से वॉक आउट कर दिया. और इस तरह सदन का आखिरी दिन पूरी तरह से हंगामेदार रहा.

इस बीच दिन की शुरुआत में सीएम ने राज्य में गरीब तबके के बिजली उपभोक्ताओं को तोहफ़ा देते हुए घोषणा की, कि मासिक 200 यूनिट तक के बिजली उपभोक्ताओं को 4.50 रुपए के बजाए अब 2.50 रुपए की दर से प्रति यूनिट बिजली का मासिक भुगतान करना होगा और ये स्कीम अक्टूबर से लागू होगी. मुख्यमंत्री ने दावा किया कि इस योजना का लाभ हरियाणा के 41 लाख 53 हज़ार घरेलू उपभोक्ताओं को होगा.

इसके साथ ही हरियाणा सरकार प्रदेश में अपराधों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से पुलिस रिस्पॉन्स में सुधार के लिए ‘हरियाणा-100’ नाम  से एक राज्यव्यापी परियोजना  स्थापित करेगी। इसका केन्द्रीयकृत नियंत्रण कक्ष पंचकूला में बनाया जा रहा है ताकि जनसाधारण को कम से कम समय में घटना स्थल पर ही पुलिस सहायता उपलब्ध हो सके।