कानून व्यवस्था

बेरिकेड्स तोड़कर आगे बढ़े किसानों पर पुलिस ने छोड़े एक्सपायरी डेट के आंसू गैस के गोले

By Arvind Kumar -- January 04, 2021 9:23 am -- Updated:January 04, 2021 9:23 am
  • दिल्ली-जयपुर हाइवे पर हजारों किसानों का जमावड़ा, भारी जाम
  • भारी विरोधों के बावजूद दिल्ली की ओर निकले किसान
  • सुरक्षा बलों से टकराव की स्थिति
  • किसानों पर पुलिस ने छोड़े एक्सपायरी डेट के आंसू गैस के गोले

रेवाड़ी। दिल्ली-जयपुर हाइवे स्थित गांव संगवाड़ी के निकट डेरा डाले हजारों किसानों ने रविवार की शाम को पुलिस द्वारा लगाए गए भारी भरकम बैरिकेड्स को ध्वस्त कर अचानक दिल्ली कूच दिया। सैकड़ों ट्रेक्टर-ट्रॉलियों में सवार किसान जब धारूहेड़ा से पूर्व साबी पुल के पास पहुंचे तो उन्हें रोकने के लिए पुलिस ने बड़ी संख्या में आंसू गैस के गोले छोड़े। किसानों का आरोप है कि पुलिस ने उन पर एक्सपायरी डेट के आंसू गैस के गोले छोड़े जिससे एक ट्राली में आग लग गई।

Tear Gas Shells on Farmers बेरिकेड्स तोड़कर आगे बढ़े किसानों पर पुलिस ने छोड़े एक्सपायरी डेट के आंसू गैस के गोले

टकराव की स्थिति के बावजूद किसान नहीं रुके और दिल्ली की ओर आगे बढ़ते चले गए। हाइवे पर हजारों किसानों का जमावड़ा लगा और भीषण ठंड के बावजूद पुलिस व सुरक्षा बलों के पसीने छूट गए। किसानों के आंदोलन के कारण हाइवे पर लंबा जाम भी लग गया और हजारों लोग इस जाम में फंसे गए। सुरक्षाकर्मियों को हाइवे पर एक साथ कई मोर्चों पर लड़ाई लड़नी पड़ रही है। किसानों ने एलान कर दिया है कि अब उन्हें दिल्ली जाने से कोई नहीं रोक सकता।

Tear Gas Shells on Farmers बेरिकेड्स तोड़कर आगे बढ़े किसानों पर पुलिस ने छोड़े एक्सपायरी डेट के आंसू गैस के गोले

दरअसल तीन दिन पूर्व सैकड़ों किसान बॉर्डर पर लगे बैरिकेड्स को तोड़कर 22 किलोमीटर दूर दिल्ली की तरफ संगवाड़ी पहुंच गए थे। यहां पुलिस ने उन्हें रोक लिया था। लेकिन रविवार शाम एनएच-71 की ओर से आए सैकड़ों किसान भी उनके साथ हो लिये और एक साथ दिल्ली कूच के लिए धावा बोल दिया। एनएच-71 पर इन किसानों ने बीती रात ही डेरा डाल दिया था और यहां गंगायचा टोल को फ्री कर रखा था। ये सारे किसान सैकड़ों ट्रेक्टर-ट्रॉलियों व खाद्य सामग्री से भरे ट्रकों के साथ बैरिकेड्स तोड़कर धारूहेड़ा के निकट साबी पुल जा पहुंचे।

यह भी पढ़ें- खटकड़ टोल पर धरना स्थल पर बैठे किसानों के बीच पहुंचे सुरजेवाला, मोदी सरकार पर बोला हमला

पुलिस ने पहले तो संयम से काम लिया, लेकिन जब हालात बिगड़े तो उसने किसानों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। जिससे पूरे वातावरण में धुंआ ही धुंआ छा गया। इससे किसानों में एक बार अफरा-तफरी का माहौल बन गया। इस दौरान किसानों की एक ट्रेक्टर-ट्रॉली में अचानक आग लगने से हड़कंप मच गया। लेकिन वे फिर भी रुके नहीं और पुलिस से लोहा लेते हुए नारेबाजी करते आगे बढ़ते रहे। उन्होंने डिवाडर के बीच ट्रकों को खड़ा कर दिया और दोनों ओर के हाइवे को जाम कर दिया।

Tear Gas shells 5 बेरिकेड्स तोड़कर आगे बढ़े किसानों पर पुलिस ने छोड़े एक्सपायरी डेट के आंसू गैस के गोले

इधर, राजस्थान सीमा स्थित जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर पर भी 6 राज्यों के किसानों का जमावड़ा बढ़ता जा रहा है। भारतीय किसान यूनियन के नेता सिधारा सिंह रविवार को टिकरी बॉर्डर से किसानों के जत्थे के साथ बॉर्डर पर पहुंचे। उनके साथ हजारों ट्रेक्टर-टॉलियां थी। अलवर यूनियन के नेता बलबी छिल्लर ने कहा कि 4 जनवरी को किसानों के साथ वार्ता यदि विफल रहती है तो भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी।

यह भी पढ़ें- केंद्र के साथ कल होने वाली बातचीत से पहले किसान नेता चढूनी का बड़ा बयान

  • Share