रोडवेज़ कर्मियों की हड़ताल साबित हुई ‘फ्लॉप शो’…नहीं दिखा हड़ताल का असर

Roadways Strike Flop Show

चंडीगढ़, 5अगस्त: हरियाणा रोडवेज़ की बुधवार को प्रस्तावित हड़ताल पूरी तरह से फ्लॉप शो साबित हुई. पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के हस्तक्षेप और सरकार के सख्त रवैये का असर सांझा तौर पर नज़र आया. हड़ताल की कॉल के बावजूद कर्मचारी ड्यूटी पर पहुंचे और पूरे प्रदेश में बस सेवाएं सामान्य नज़र आईं. हालांकि कुछ शहरों में हड़ताली कर्मचारियों ने बसें रोकने और नारेबाज़ी करने की कोशिश की, लेकिन इस बार पुलिस तुरंत हरकत में आई और कर्मचारियों को हिरासत में ले लिया गया. रोडवेज़ के चंडीगढ़ डिपो से करीब 50 कर्मचारियों को हिरासत में लिया गया जबकि अन्य शहरों में भी कई अहम यूनियन नेताओं सिहत दर्जनों कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया.

गौरतलब है कि हड़ताल से चार दिन पहले ही ESMA के तहत हड़ताल करने पर पाबंदी लगा दी गई थी. पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने भी सरकार को हिदायत दी थी कि हड़ताली कर्मचारियों से सख्ती से निपटा जाए. इतना ही नहीं कोर्ट ने निर्देश जारी किए थे कि हड़ताल की बाकायदा वीडियोग्राफी करवाई जाए और जो कर्मचारी इसमें संलिप्त हो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए. साथ ही हाईकोर्ट ने अदालत के आदेश की अवहेलना करने के लिए CONTEMPT OF COURT का नोटिस भी कर्मचारी नेताओं को थमा दिया है और उन्हें 3 अक्टूबर को पेश होने के आदेश दिए गए हैं.

हालांकि हड़ताली कर्मचारी अभी भी अपना रवैया बदलने को तैयार नहीं दिख रहे. उनका कहना है कि प्रदेश में किसी भी हालत में निजी बसों को चलने नहीं दिया जाएगा और वे अपना विरोध जारी रखेंगे.