हरियाणा

हरियाणा में बेटियों को मिल रहा लाड, 1 हजार लड़कों पर 987 बेटियों ने लिया जन्म...फतेहाबाद सबसे अब्बल

By Vinod Kumar -- July 14, 2022 4:14 pm

फतेहाबाद/साहिल रुखाया: हरियाणा में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा अब सार्थक बनता जा रहा है। हरियाणा के फतेहाबाद में इस वर्ष 1000 लड़कों के पीछे 987 बेटियों ने जन्म लिया है और इस मामले में फतेहाबाद जिला पूरे प्रदेश में प्रथम रहा है और पूरे प्रदेश का लिंगानुपात 916 रहा है।

सबसे कम लगानुपात फरीदाबाद का है, जोकि 879 हैस अन्य जिलों की तुलना में बेटियों से लाड के मामले में फतेहाबाद सबसे आगे है। फतेहाबाद के डीसी प्रदीप कुमार ने जिलावासियों को बधाई देते हुए कहा कि जिले में प्रथम स्थान पर रहा है जिलावासियों के लिए गौरव की बात है। पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा शुरु किए गए अभियान बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को गति देने में केवल सरकारी सिस्टम नहीं बल्कि आमजन का सहयोग और भागीदारी शामिल है।

Ambala News | Haryana News | Sex ratio in Ambala rose to 959

कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए प्रशासन समय-समय पर अभियान चलाकर आमजन को जहां जागृत करता है। वहीं इस कन्या भ्रूण हत्या जैसा अपराध करने वालों पर सख्त कानूनी कार्रवाई भी की जाती हैl

Sex ratio decline in karnal in last one year

बेटियों के जन्म मामले में प्रदेश की तस्वीर अब बदलती जा रही है। प्रदेश में बेटियों को भरपूर प्यार और लाड मिल रहा है। भ्रूण हत्या और बेटियों के साथ भेदभाव का कलंक अब हरियाणा के माथे से मिटता जा रहा है। हरियाणा के फतेहाबाद में इस वर्ष 1000 लड़कों के पीछे 987 बेटियों ने जन्म लिया है।

Punjab Sex Ratio Improves From 878 To 907 Today

लोगों की सोच अब धीरे धीरे बदल रही है। लोगों का कहना है कि बेटियों को जन्म देना चाहिए न की उन्हें गर्भ में मार देना चाहिए। बेटियां बेटों से किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं। उन्हें पढ़ा लिखा कर आगे बढ़ने का मौका दें ताकि पढ़ लिख कर देश व प्रदेश का नाम रोशन कर सकें।

  • Share