राजनीति

हिजाब विवाद पर बोले ओवैसी, कहा: एक दिन हिजाब पहनने वाली महिला बनेगी भारत की प्रधानमंत्री

By Vinod Kumar -- February 14, 2022 11:40 am -- Updated:February 14, 2022 11:40 am

कर्नाटक से शुरू हुए हिजाब विवाद की आग अब पूरे देश में फैल गई है। सभी राजनीतिक दलों के नेताओं से लेकर आमआदमी तक इस मुद्दे पर अपने तर्क दे रहे हैं। हिजाब विवाद में अब AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी की एंट्री हो गई है। हिजाब का समर्थन करते हुए ओवैसी ने बड़ा बयान दिया है।

ओवैसी ने तेलंगाना में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ' अगर हिजाब पहनने का फैसला हमारी बेटियां करती है और अपने अब्बा या अम्मी से कहती हैं कि उन्हें हिजाब पहनना है तो अब्बा या अम्मी भी कहेंगे की बेटा तू पहन हिजाब हम देखते हैं कौन रोकता है। यही हिजाब पहनी बच्चियां कल डॉक्टर, कलेक्टर, एसडीएम भी बनेंगी। ये बिजनेसमैन भी बनेंगी और एक दिन तुम याद रखना, शायद मैं ज़िंदा नहीं रहूंगा, तुम देखना इस देश की बच्ची हिजाब पहनकर प्रधानमंत्री बनेगी।'

 

हिजाब विवाद पर अब तक किसने क्या कहा

कर्नाटक में उडुपी से बीजेपी विधायक रघुपति भट ने इस पूरे विवाद की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) से कराने की मांग की है। उनका दावा है कि इसके पीछे अंतरराष्ट्रीय स्तर की साजिश है। पाकिस्तान को छोड़कर कोई भी मुस्लिम देश हमारे खिलाफ नहीं है। उडुपी में हिजाब पर बैन नहीं लगाया जा सकता। यह उनका धार्मिक अधिकार है, लेकिन स्कूलों में यूनिफॉर्म का पालन किया जाना चाहिए। तनाव बढ़ता देख उडुपी में धारा 144 लागू कर दी गई है।

Hijab row: Karnataka suspends classes for pre-university students

कर्नाटक में उडुपी से बीजेपी विधायक रघुपति भट ने इस पूरे विवाद की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) से कराने की मांग की है। उनका दावा है कि इसके पीछे अंतरराष्ट्रीय स्तर की साजिश है। पाकिस्तान को छोड़कर कोई भी मुस्लिम देश हमारे खिलाफ नहीं है। उडुपी में हिजाब पर बैन नहीं लगाया जा सकता। यह उनका धार्मिक अधिकार है, लेकिन स्कूलों में यूनिफॉर्म का पालन किया जाना चाहिए।

इस मसले पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि देश में हर किसी को अपनी मर्जी से खाने और कपड़े पहनने का अधिकार है। साथ ही हर नागरिक अपने धर्म की प्रथाओं का पालन करने के लिए आजाद है। कुछ कट्टरपंथी लोगों को धर्म के आधार पर बांटकर चुनाव में फायदा लेना चाहते हैं।

Former J&K CM Farooq Abdullah hospitalised, days after testing positive for COVID

कांग्रेस नेता जमीर अहमद का कहना है कि हिजाब का पर्दे के लिए होता है। मुस्लिम महिलाएं अपनी सुंदरता छिपाने के लिए हिजाब पहनती है। जो महिलाएं हिजाब नहीं पहनती उनका रेप हो जाता है। उन्होंने यह भी कहा कि किसी पर दबाव नहीं है, जिसको पहनना है वो हिजाब पहने जो नहीं पहनना चाहता उसकी मर्जी।

वहीं, हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने हिजाब विवाद पर कहा कि ‘कांग्रेस ने हमेशा देश में विभाजनकारी नीतियां ही चलाईं है। वो इसके अलावा कुछ नहीं सोच सकते और इस सोच ने हिंदुस्तान का बंटवारा किया। ये बंटवारा आज तक हिंदुस्तान को चैन से रहने नहीं दे रहा. ये कभी आतंकवादी, कभी हिजाब और कभी किसी शक्ल में सामने आते हैं।

 

सपा नेता रुबीना खानम ने कहा, "यदि आप भारत की बेटियों और बहनों की गरिमा के साथ खेलने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें झांसी की रानी और रजिया सुल्ताना की तरह बनने में देर नहीं लगेगी और उनके हिजाब को हाथ लगाने वालों के हाथ काट दिए जाएंगे।" समाजवादी पार्टी के नेता ने यह भी कहा कि भारत विविधता का देश है और इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि किसी व्यक्ति के माथे पर तिलक है या पगड़ी या हिजाब है।

  • Share