HimachalBudget : सीएम जयराम ने खोला अपना पिटारा, जानिए किसे क्या मिला ?

Jairam Thakur
सीएम जयराम ने खोला अपना पिटारा, जानिए किसे क्या मिला ?

शिमला। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विधानसभा में शनिवार को 2019-20 का बजट प्रस्तुत किया। मुख्यमंत्री ने बजट भाषण की शुरूआत अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ की। उन्होंने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के संकल्प ”सबका साथ-सबका विकास“ के आधार पर ही प्रदेश की विकास नीति का निर्धारण किया गया है। उन्होंने जनमंच का जिक्र करते हुए कहा कि विकास की इस नई पहल में हमारी सरकार ने आम जनता से सीधा संवाद स्थापित किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनवरी, 2019 के अन्त तक प्रदेश में 106 जनमंच कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिनमें 33,966 शिकायतों एवं माँग पत्रों का निपटारा किया गया। इसके उपरांत मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने भी सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से पिछड़े युवाओं को नौकरी और शैक्षणिक संस्थानों में 10 प्रतिशत आरक्षण देने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें : हिमाचल की इन तीन शख्सियतों को मिला पद्मश्री

मुख्यमंत्री ने अपने बजट में विभिन्न वर्गों के लिए कई घोषणाएं की हैं, जो इस प्रकार से हैं:

बजट की मुख्य बातें

    • कर्मचारियों व पेंशनरों को महंगाई भत्‍ते की घोषणा
    • सामाजिक सुरक्षा पेंशन बढ़ाकर 1500 रुपए की गई
    • आशा वर्करों को 1200 के बजाए प्रतिमाह मिलेंगे 1500 रुपए
    • प्रदेश में कार्यरत वाटर गार्ड का मानदेय बढ़ाया गया
    • संस्‍कृत को हिमाचल की दूसरी भाषा का दर्जा दिया गया
    • 15 नए आदर्श विद्या केंद्र खोलने की घोषणा
    • पीटीए और पैरा टीचरों को नियमित अध्यापकों के बराबर मिलेगा वेतन
    • बजट में 20 हजार पदों को भरने का ऐलान किया गया
    • प्रदेश में खिलाड़ियों के लिए बनेगी नई खेल नीति
    • मंडी, कुल्‍लू व सोलन के लिए हेली टैक्‍सी सेवा जल्‍द
    • मुख्‍यमंत्री आवास योजना के तहत अब मिलेंगे साढ़े तीन लाख
    • बजट में दूध के दाम दो रुपये प्रति लीटर बढ़ाने की घोषणा
    • दिहाड़ीदारों की दिहाड़ी 225 से बढ़ाकर 250 रुपए करने की घोषणा
    • इस वित्त वर्ष में सरकार ने नहीं लगाया कोई नया टैक्‍स

यह भी पढ़ेंहिमाचल में स्वाइन फ्लू से 16 की मौत, अभी तक 113 मामले आए सामने

कुल मिलाकर सीएम जयराम ठाकुर ने अपने कार्यकाल के दूसरे बजट में हर वर्ग के लिए कुछ ना कुछ घोषणा की है। इस बजट में जहां कर्मचारियों का ध्यान रखा गया है वहीं किसानों, बेरोजगारों और बुजुर्गों के लिए भी कई घोषणाएं की गई है। खास बात यह है कि बजट में कोई नया टैक्स लगाने की घोषणा नहीं की गई है।