Fri, Jan 27, 2023
Whatsapp

पुलिस ने 48 घंटे में सुलझाई दो भाइयों की हत्या की गुत्थी, ऐसे पकड़ा गया आरोपी

पंजाब के रहने वाले दो सगे भाइयों के डबल मर्डर मामले की गुत्थी को पुलिस ने 48 घंटे में सुलझा लिया। गिरफ्तार आरोपी ने लूट के इरादे से दोनों भाइयों की हत्या की थी। आरोपी ने लोहे की रॉड से दोनों को मौत के घाट उतार दिया था। इसके बाद दोनों के शव रेलवे लाइन पर फेंक कर फरार हो गया था।

Written by  Vinod Kumar -- December 27th 2022 01:07 PM
पुलिस ने 48 घंटे में सुलझाई दो भाइयों की हत्या की गुत्थी, ऐसे पकड़ा गया आरोपी

पुलिस ने 48 घंटे में सुलझाई दो भाइयों की हत्या की गुत्थी, ऐसे पकड़ा गया आरोपी

रोहतक/सुरेंद्र सिंह: पंजाब के रहने वाले दो सगे भाइयों के डबल मर्डर मामले  की गुत्थी को पुलिस ने 48 घंटे में सुलझाकर आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। 23 और 24 दिसंबर की रात को गांव सिंहपुरा के पास रोहतक से जींद रेलवे लाइन पर बने आउट बाईपास पर रेलवे ओवर ब्रिज के नीचे पटरी पर दोनों भाइयों की लाशें मिली थीं।

दोनों भाई सुखविंद्र और सतेंद्र के शव मिले थे। जिस तरह शव पटरी पर पड़े हुए थे, इससे पुलिस को हत्या कर शवों को रेलवे पटरी पर फेंकने का शक हुआ। परिजनों के बयान पर जीआरपी पुलिस थाना रोहतक ने डबल मर्डर का मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी।


गिरफ्तार आरोपी ने लूट के इरादे से दोनों भाइयों की हत्या की थी। आरोपी ने लोहे की रॉड से दोनों को मौत के घाट उतार दिया था। इसके बाद दोनों के शव रेलवे लाइन पर फेंक कर फरार हो गया था। पकड़ा गया आरोपी जयपाल यूपी का रहने वाला है, लेकिन लंबे समय से रोहतक में रह रहा था। बता दें दोनों मृतक सगे भाई थे और पंजाब के रहने वाले थे। दोनों रोहतक में हाइड्रा मशीन चलाने का काम करते थे। आरोपी जयपाल ने दोनों की हत्या कर उनकी मशीन लूटने की कई दिनों से योजना बनाई हुई थी।

शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात को आरोपी ने दोनों भाइयों को सड़क पर पलटी गाड़ी को उठाने के लिए दोनों को क्रेन लेकर बुलाया। प्लान के मुताबिक आरोपी ने पहले दोनों भाइयों को पहले चाय पिलाई उसके बाद दोनों की हत्या कर दी। हत्या के बाद शवों को रेलवे पटरी पर फेंक दिया। इसके बाद दोनों भाईयो की हाइड्रा मशीन ले गया और यूपी में ले जाकर छिपा दी। 

दोनों भाइयों के शव मिलने के बाद पुलिस ने आरोपी को फोन कॉल के आधार पर हिरासत में लिया तो पुलिस की पूछताछ में उसने अपना अपराध का कबूल कर लिया। आरोपी मृतक सुखविंद्र और सतेंद्र के पास ही नौकरी करता था। बाद में अपना अलग हाइड्रा मशीन चलाने लगा था।  

- PTC NEWS

adv-img

Top News view more...

Latest News view more...