adv-img
हरियाणा

MBBS छात्रों के हित में बॉन्ड पॉलिसी, सेवा भाव से नौकरी करें मेवा भाव से नही: सीएम मनोहर लाल

By Vinod Kumar -- November 5th 2022 05:16 PM
MBBS छात्रों के हित में बॉन्ड पॉलिसी, सेवा भाव से नौकरी करें मेवा भाव से नही: सीएम मनोहर लाल

रोहतक/सुरेंद्र सिंह: आज रोहतक में हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा अगले पांच साल में हर जिले में मेडिकल कालेज बन का तैयार हो जाएंगे। प्रदेश में 13 सरकारी और निजी मेडिकल कालेज काम कर रहे हैं, अन्य जिलों में मेडिकल कॉलेज का रोड मैप तैयार किया जा रहा है।

सीएम ने कहा कि WHO की गाइडलाइन के अनुसार एक हजार लोगों पर एक डॉक्टर होना चाहिए। हरियाणा की जनसंख्या मानें 2 करोड़ अस्सी लाख है तो 28 हजार डॉक्टर चाहिए, जबकि प्रदेश में सरकारी छह हजार डॉक्टर हैं उतने ही निजी हॉस्पिटल में होंगे। प्रदेश में डॉक्टरों की फिफ्टी परसेंट कमी है।

सीएम मनोहर लाल ने बॉन्ड पॉलिसी को लेकर भी कहा कि जो भी डॉक्टर बनें वह सेवा के लिए डॉक्टर बनें ना की मेवा पाने के लिए। सेवा भाव के लिए नौकरी करनी चाहिए ना कि सिर्फ मेवा खाने के लिए। बॉंड पॉलिसी इस संबंध में राज्य का समर्थन करने के लिए बनाई गई है। पॉलिसी छात्रों या उनके माता-पिता पर बोझ डालने के लिए नहीं है। उन्हें सरकारी सेवा के समकक्ष या उससे बेहतर नौकरी मिलने के बाद ही बॉंड फीस का भुगतान करना होगा।

बॉंड पॉलिसी पर हो रहे विवाद पर सीएम मनोहर लाल ने कहा कि ये बॉन्ड पालिसी राज्य का समर्थन करने के लिए बनाई गई है। पॉलिसी छात्रों या उनके माता-पिता पर बोझ डालने के लिए नहीं है। डिग्री पूरी करने के बाद उन्हें सरकारी सेवा के समकक्ष या उससे बेहतर नौकरी मिलने के बाद ही बॉंन्ड फीस का भुगतान करना होगा। डिग्री के बाद नौकरी नहीं मिलने पर पैसे नहीं लिए जाएंगे।

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि डॉक्टर कभी रिटायर नहीं होते हैं। पिछले 60 सालों से ये चिकित्सा संस्थान आम लोगों की सेवा करने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि मैं शरीर का डॉक्टर तो नहीं बन पाया, पर समाज का डॉक्टर जरूर बन गया हूं। 

बता दें कि हरियाणा के रोहतक पीजीआई के MBBS कोर्स के छात्र पिछले चार दिनों से प्रदेश सरकार की बॉन्ड पॉलिसी के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन शुक्रवार देर रात लगभग 2 बजे के करीब पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों को बल पूर्वक हिरासत में ले लिया।

- PTC NEWS

adv-img
  • Share