adv-img
प्रमुख खबरें

गिनी में बंधक बनाए गए भारतीय मर्चेंट नेवी के 16 क्रू मेंबर्स का नया वीडियो, खाना पानी ना मिलने से हुए बेहोश

By Vinod Kumar -- November 8th 2022 12:20 PM -- Updated: November 8th 2022 02:42 PM
गिनी में बंधक बनाए गए भारतीय मर्चेंट नेवी के 16 क्रू मेंबर्स का नया वीडियो, खाना पानी ना मिलने से हुए बेहोश

कानपुर/ज्ञानेंद्र शुक्ला: पश्चिमी देश गिनी में मर्चेंट नेवी शिप के 26 क्रू मेंबर्स को गिनी नेवी ने बंधक बना रखा है। गिनी नेवी ने शिप के क्रू मेंबर्स पर चोरी का आरोप लगाया है। पिछले कई दिनों से क्रू मेंबर्स को बंधक बनाकर रखा गया है। 

बंधक बनाए गए क्रू मेंबर्स का एक नया वीडियो सामने आया है। क्रू मेंबर्स एक कमरे में जमीन पर लेटे हुए हैं। खाना-पानी ना मिलने के कारण क्रू मेंबर्स बेहोशी की हालत में दिखाई दे रहे हैं। क्रू मेंबर्स में कानपुर के रोशन अरोड़ा भी शामिल शामिल हैं। रोशन अरोड़ा ने मीडिया को इसे बारे में जानकारी दी है।

बता दें कि भारतीय मर्चेंट नेवी के एक्सेप में तैनात कुल 26 सदस्यों को पश्चिमी अफ्रीकी देश गिनी में बीते 3 माह से शिप समेत क्रू मेंबरों को बंधक बनाया गया है। बीते रविवार को बंधक बनाए गए भारतीय मार्चेंट नेवी के असिस्टेंट ऑफिसर रौशन अरोड़ा ने अपने घर पर फोन करके इस बात की जानकारी अपने परिवार वालों को दी थी।

बेटे के बंधक बनने की खबर के बाद कानपुर के गोविंद नगर में रहने वाला रौशन अरोड़ा के परिवार का रो-रो कर बुरा हाल है। परिवार ने बेटे को रिहा करवाने के लिए भारत सरकार से गुहार लगाई है। कानपुर में गोविंद नगर की लेबर कॉलोनी में रहने वाले रौशन अरोड़ा मर्चेंट नेवी में असिस्टेंट ऑफिसर पद पर कार्यरत हैं।

परिवार वालों की मानें तो उनके पास बेटे रौशन ने बीते शनिवार को फोन करके इस बात की जानकारी दी है कि पश्चिमी अफ्रीकी के गिनी देश में भारतीय मर्चेंट नेवी के एक शिप के क्रू मेंबर की टीम को पिछले 3 माह से बंधक बना कर रखा गया है, जिनपर कच्चा तेल चोरी का आरोप लगा है। शिप में कुल 26 सदस्य तैनात हैं, जिसमें 16 भारतीय हैं। रौशन ने इस बात की भी अपने परिवार वालों को जानकारी दी है कि जुर्माना भरने के बावजूद भी उन्हें नहीं छोड़ा जा रहा है। ऐसे में उनकी जान पर खतरा बना हुआ है।

इस बात की जानकारी जैसे ही परिजनों को लगी तो बेटे को खतरे में देखकर परिवार वालों में अफरा-तफरी मच गई। परिवार वाले अपने बेटे को छुड़ाने के लिए भारत सरकार से अब गुहार लगाते हुए नजर आ रहे हैं। रौशन के परिवार वालों की मानें तो बेटे के बताने के मुताबिक उनका शिप वापस भारत की तरफ आ रहा था। इसी दौरान रास्ते में गिनी देश की नेवी के अफसरों ने उनको रोक लिया 15 अफसरों को मालाबो में कैद कर लिया गया। साथ ही अन्य 11 को जहाज में ही नजर बंद कर लिया गया। 

वहीं, उन्होंने बताया कि इस घटना के तीन माह बीत चुके है, लेकिन उसने अपने घर वालों को अभी तक जानकारी नहीं दी थी। गिनी नेवी अफसर पकड़े गए सभी क्रू मेंबर को नाइजीरियन नेवी को सौंपने वाले हैं। इसके बाद से सारे लोग दहशत में हैं। 

वहीं, पीड़ित परिवार ने बताया कि उन्होंने शिप कंपनी के अधिकारियों से भी इस पूरे मामले पर जब बात की तो उन्होंने नाइजीरिया और गिनी देशों के अफसरों के संपर्क में होने की बात बताई है।साथ ही भारत सरकार के पीएम ऑफिस से भी मामले को संज्ञान में लिया गया है। परिजन हर कीमत पर अपने बेटे को भारत सरकार से मुक्त कराने की मांग कर रहे है है।

- PTC NEWS

adv-img
  • Share