कोरोना के मरीज की मौत होने के बाद परिजनों ने निजी अस्पताल में किया हंगामा!

कोरोना के मरीज की मौत होने के बाद परिजनों ने निजी अस्पताल में किया हंगामा!

फरीदाबाद। (सुधीर सर्मा) देश में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है जिसको लेकर देश के अलग-अलग राज्यों ने कहीं नाइट कर्फ्यू तो कहीं वीकेंड लॉक डाउन की घोषणा की है। लेकिन बावजूद इसके कोरोना से लगातार अब मरने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है और मृतकों के परिजन लगातार अस्पतालों पर इलाज में तरह तरह के लापरवाही के आरोप लगा रहे हैं। ताजा मामला दिल्ली से सटे फरीदाबाद का है जहां NIT फरीदाबाद के 5 नम्बर स्थित एक निजी माधव अस्पताल में एक कोरोना के मरीज की मौत के बाद परिजनों ने न केवल हंगामा किया बल्कि अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ की।

Hungama in Hospital
कोरोना के मरीज की मौत होने के बाद परिजनों ने निजी अस्पताल में किया हंगामा!

इतना ही नहीं मृतक के परिजनों ने अस्पताल की एक नर्स के साथ भी मारपीट की जिसके चलते उसे काफी गंभीर चोटें आई है और उसे ईलाज के लिए भर्ती किया है। जब इस बारे में निजी अस्पताल के संचालक से बात की गई तो उन्होंने बताया मृतक की हालात बेहद नाजुक होने के बारे में पहले ही मृतक के परिजनों को बता दिया गया था जिसके चलते उसे उनके अस्पताल से रेफर किया गया था लेकिन मृतक के परिजन उसे दोबारा घण्टों बाद फिर अस्पताल में लेकर आये लेकिन जब वह दोबारा मरीज को लेकर उनके अस्पताल पहुँचे तो उसकी हालत बेहद नाजुक थी जिसे उनके अस्पताल के डॉक्टरों ने बचाने की कोशिश की लेकिन मरीज की जान नहीं बचाई जा सकी।

यह भी पढ़ें- दिल्ली में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

यह भी पढ़ें- कुमारी सैलजा बोलीं- हरियाणा में कोरोना संक्रमण से हालात अत्यंत खतरनाक

Hungama in Hospital
कोरोना के मरीज की मौत होने के बाद परिजनों ने निजी अस्पताल में किया हंगामा!

मृतक के परिजनों की मानें तो उनके मरीज को अस्पताल में जाने से पहले बताया गया था कि अस्पताल में सभी सुविधाएं मौजूद है लेकिन इस अस्पताल में वेंटिलेटर की सुविधा नहीं थी जिसके चलते उनके मरीज की जान चली गई। वहीं जब इस बारे में निजी माधव अस्पताल के संचालक से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उनके अस्पताल में मरीज दिल्ली के राम मनोहर लोहिया से आया था यहां आने से पहले उन्होंने मृतक के परिजनों को साफ-साफ कह दिया था कि दिल्ली के राम मनोहर लोहिया से उनका अस्पताल बहुत छोटा है और कोरोना के मरीज के बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

Hungama in Hospital

वहीं माधव अस्पताल के संचालक डॉक्टर नीरज ने बताया कि उनकी तरफ से इलाज में कोई लापरवाही नहीं बरती गई थी। वहीं तोड़फोड़ और मारपीट की शिकायत वह सम्बंधित थाने में करेंगे ताकि दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जा सके।