धर्म

मंत्रोच्चारण और शंखनाद से हुआ अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आगाज

By Arvind Kumar -- December 03, 2019 2:12 pm -- Updated:Feb 15, 2021

कुरुक्षेत्र। (अशोक यादव) मंत्रोच्चारण और शंखनाद के बीच कुरुक्षेत्र के अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2019 का आज आगाज हुआ। इस आगाज के साथ ही ब्रह्मसरोवर के चारों तरफ श्लोकाच्चारण से पूरी फिजा ही गीतामय हो गई।

Gita Mahotsav 1 मंत्रोच्चारण और शंखनाद से हुआ अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आगाज

इसके साथ राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद, उतराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत, नेपाल के डिप्टी हाई कमीश्नर, जिम्बावे के हाई कमीश्नर, हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर, हरियाणा के खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री संदीप सिंह, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव एवं पूर्व मंत्री कृष्ण कुमार बेदी, थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने ब्रह्मसरोवर के पवित्र जल का आचमन यानी तीर्थ पूजन करने के उपरांत पवित्र ग्रन्थ गीता का पूजन कर गीता यज्ञ में पूर्ण आहुती डाली और विधिवत रुप से 3 से 8 दिसम्बर तक चलने वाले अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का शुभारम्भ किया।

Gita Mahotsav 3 मंत्रोच्चारण और शंखनाद से हुआ अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आगाज

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने बताया कि धर्मनगरी कुरुक्षेत्र युद्ध भूमि के साथ-साथ सद्भाव और शांति की भी भूमि है। यहां से उत्थान के निहित प्रेरणा मिलती है। उन्होंने हरियाणा सरकार का धन्यवाद किया कि अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव में उत्तराखंड को स्टेट पार्टनर बनाया गया है। उन्होंने कहा कि यह बहुत खुशी की बात है। इस तरह के आयोजनों से अन्य राज्यों की झलक देखने को मिलती है।

यह भी पढ़ें : हरियाणा में बनाया जाएगा भारत माता का मंदिर, 5 एकड़ जमीन चयनित

---PTC NEWS---